Call us now: (+91) 94135 68044 | churugurukul@gmail.com

Current Affairs 01 - 02 March 2017

1) भारत का पहला एकीकृत हैलीपोर्ट (integrated heliport) 28 फरवरी 2017 को राष्ट्र को समर्पित किया गया। हैलीकॉप्टरों की सेवाओं से सम्बन्धित यह हैलीपोर्ट कहाँ स्थापित किया गया है? – रोहिणी (दिल्ली)

विस्तार: केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू (Ashok Gajapathi Raju) ने देश के पहले एकीकृत हैलीपोर्ट का उद्घाटन 28 फरवरी 2017 को उत्तरी दिल्ली स्थित रोहिणी (Rohini) में किया। उल्लेखनीय है कि अभी तक देश में हैलीकॉप्टरों की सेवाओं को संचालित करने के लिए कोई अलग सुविधा नहीं थी तथा इनका संचालन हवाईअड्डों के हैंगरों से ही किया जाता है।

 इस हैलीपोर्ट का निर्माण सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम पवनहंस (Pawan Hans) ने किया तथा इसके टर्मिनल भवन में 150 यात्रियों को सेवाएं प्रदान करने की क्षमता है। यहाँ 16 हैलीकॉप्टरों को रखने के लिए 4 हैंगर (hanger) बनाए गए हैं।

 रोहिणी स्थित हैलीपोर्ट से एक तरफ दिल्ली हवाईअड्डे का बोझ कम होगा तो दूसरी ओर हैलीकॉप्टर सेवाओं को बेहतर किया जा सकेगा। आपदाओं के प्रबन्धन तथा मेडिकल आपातकालीन सेवाओं के लिए यह हैलीपोर्ट बेहतर सेवाएं प्रदान कर सकेगा। इसके अलावा इस सुविधा का इस्तेमाल हैलीकॉप्टर इंजीनियरों व पायलटों के कौशल विकास के लिए भी किया जा सकेगा।

……………………………………………………………………

2) आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांता दास द्वारा 28 फरवरी 2017 को की गई घोषणा के अनुसार गुड्स एण्ड सर्विस टैक्स (GST) को पूरे देश में किस तिथि से लागू किया जायेगा? – 1 जुलाई 2017

विस्तार: आर्थिक मामलों के सचिव (Economic Affairs Secretary) शक्तिकांता दास (Shaktikanta Das) ने 28 फरवरी 2017 को घोषणा की कि 1 जुलाई 2017 से गुड्स एण्ड सर्विस टैक्स (GST) को पूरे देश में लागू कर दिया जायेगा क्योंकि लागू करने की तिथि को लेकर देश की सभी राज्य सरकारों ने अपनी सहमति जता दी है।

 उल्लेखनीय है कि जीएसटी के क्षतिपूर्ति सम्बन्धी मसौदा प्रस्ताव (GST draft compensation bill) को जीएसटी परिषद (GST Council) ने 18 फरवरी 2017 को अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी थी।

 अब केन्द्र सरकार एकीकृत जीएसटी (iGST), केन्द्रीय जीएसटी (cGST) तथा राज्य जीएसटी (sGST) के प्रस्तावों को जीएसटी परिषद की 3-4 मार्च 2017 को होने वाली बैठक में स्वीकार कराने पर जोर दे रही है।

……………………………………………………………………

3) देश में बैंकिंग काम-काज 28 फरवरी 2017 को बुरी तरह से प्रभावित हुआ क्योंकि केन्द्र सरकार की कथित “जनता-विरोधी आर्थिक सुधार की नीतियों” के खिलाफ लगभग 10 लाख कर्मचारियों ने देश-व्यापी बैंक हड़ताल में भाग लिया। इस हड़ताल का आह्वान किस संगठन ने किया था? – यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (UFBU)

विस्तार: 28 फरवरी 2017 को आयोजित बैंक हड़ताल का आह्वान यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (United Forum of Bank Unions – UFBU) ने किया था, जो 9 विभिन्न बैंक कर्मचारी संघों का संगठन है।

 बैंक कर्मचारी संघों द्वारा जारी जानकारी के अनुसार इस देशव्यापी हड़ताल में लगभग 85,000 वाणिज्यिक बैंक शाखाओं और 105,000 सहकारी बैंक शाखाओं ने भाग लिया। हड़ताल के चलते लगभग 40 लाख चैकों का निस्तारण (cheque clearance) नहीं हो सका जिसके कारण लगभग 22,000 करोड़ रुपए का काम प्रभावित हुआ।

 हालांकि इस हड़ताल में आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) और एक्सिस बैंक (Axis Bank) जैसे निजी बैंकों के कर्मचारियों ने भाग नहीं लिया क्योंकि वे इन बैंक संगठनों से नहीं जुड़े हैं। लेकिन इन बैंकों में भी चैक निस्तारण का काम नहीं हुआ।

……………………………………………………………………

4) काजीरंगा रिज़र्व (Kaziranga Reserve) में अवैध शिकार के खिलाफ सुरक्षाबलों द्वारा अपनाई गई कथित तौर पर अमानवीय नीति के खिलाफ बनाए गए एक वृत्तचित्र के चलते केन्द्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय ने विदेश मंत्रालय को बीबीसी दक्षिण एशिया (BBC South Asia) के संवाददाता जस्टिन रोलैट (Justin Rowlatt) और उनके दल के वीज़ा निरस्त करने की हिदायत फरवरी 2017 के दौरान की है। इस विवादास्पद वृतचित्र का नाम क्या है? – “वन वर्ल्ड: किलिंग फॉर कन्ज़रवेशन” (‘One World: Killing for Conservation’)

विस्तार: उल्लेखनीय है कि BBC द्वारा बनाए गए वृतचित्र “वन वर्ल्ड: किलिंग फॉर कन्ज़रवेशन” (‘One World: Killing for Conservation’) में असम (Assam) स्थित काजीरंगा रिज़र्व (Kaziranga Reserve) में गैंडों (rhinoceros) का अवैध शिकार करने वाले शिकारियों के खिलाफ सुरक्षाबलों द्वारा शुरू की गई रणनीति के खिलाफ पक्ष पेश किया गया है।

 इस वृतचित्र में दावा किया गया है कि विश्व विरासत स्थल का दर्जा हासिल इस अभ्यारण्य में सुरक्षाबलों को शिकारियों को देखते ही गोली चलाने का आदेश दे दिया गया है जो मानवाधिकारों के खिलाफ है। वृतचित्र के इस पक्ष को पर्यावरण व वन मंत्रालय गलत मान रहा है।

 इसी क्रम में उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (National Tiger Conservation Authority – NTCA) ने 27 फरवरी 2017 को विदेश मंत्रालय को यह सलाह भी दी है कि BBC के इस विवादास्पद वृतचित्र को बनाने में संलग्न दल को अगले 5 वर्ष तक देश के संरक्षित क्षेत्रों में फिल्मांकन से प्रतिबन्धित कर दिया जाना चाहिए।

……………………………………………………………………

5) फरवरी 2017 के दौरान मीडिया में प्रकाशित खबरों के अनुसार आने वाले समय में तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ONGC) किस तेल विपणन कम्पनी का अधिग्रहण कर सकता है? – हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन

विस्तार: मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तेल की खोज में संलग्न देश का सबसे बड़ा उपक्रम तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (Oil and Natural Gas Corporation – ONGC) देश की तीसरी सबसे बड़ी तेल विपणन कम्पनी हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (Hindustan Petroleum Corporation Ltd – HPCL) का अधिग्रहण लगभग 44,000 करोड़ रुपए के मूल्य पर कर सकता है। इस सौदे के द्वारा केन्द्र सरकार की मंशा एक भारी-भरकम एकीकृत तेल उपक्रम स्थापित करने की है।

 इस प्रस्तावित अधिग्रहण से एक तेल उत्पादक तथा एक तेल विपणन कम्पनी का एकीकरण हो जायेगा जिससे तेल के क्षेत्र में एक काफी बड़े आकार का उपक्रम स्थापित किया जा सकेगा जो तमाम प्रकार के संचालन खर्चों में कटौती करने में सक्षम होगा।

 यदि यह सौदा प्रभाव में लाया जाता है तो ONGC हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (HPCL) में केन्द्र सरकार की समस्त 51.1% हिस्सेदारी खरीद लेगा। इसके बाद HPCL के अन्य शेयरधारकों से खुले ऑफर (open offer) के तहत अतिरिक्त 26% हिस्सेदारी खरीदने की जरूरत भी पड़ेगी।

……………………………………………………………………

6) 28 फरवरी 2017 को जारी राष्ट्रीय पारिवारिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण (चरण-4) में उल्लिखित आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2015-16 के दौरान जन्म के समय दर्ज होने वाली राष्ट्रीय लिंगानुपात दर (national sex ratio (at birth) कितनी थी? – 919

विस्तार: राष्ट्रीय पारिवारिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण – चरण-4 (National Family Health Survey -4) में वर्णित आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2015-16 में राष्ट्रीय लिंगानुपात दर (जन्म के समय) 919 (यानि प्रति हजार बालकों के परिप्रेक्ष्य में जन्मी बालिकाओं की संख्या) रही। यह वर्ष 2005-06 में जारी राष्ट्रीय पारिवारिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण (चरण-3) में दर्ज लिगांनुपात (914) के मुकाबले बेहतर है।

 जन्म के समय सर्वश्रेष्ठ लिंगानुपात केरल में (1,047) दर्ज किया गया जबकि इसके बाद क्रमश: मेघालय (1,009) और छत्तीसगढ़ (977) का स्थान रहा। वहीं कम लिंगानुपात के लिए कुख्यात हरियाणा (Haryana) में भी लिंगानुपात 10 साल के 762 के मुकाबले काफी सुधर कर 836 रहा।

 राष्ट्रीय पारिवारिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण (चरण-4) में शिशु मृत्यु दर (Infant Mortality Rate) 2005-06 के 57 से घटकर 41 (प्रति 1000 जन्में जीवित बच्चों के परिप्रेक्ष्य में) हो गई। खास बात यह रही कि पिछले एक दशक में देश के लगभग सभी राज्यों में शिशु मृत्यु दर में गिरावट दर्ज की गई।

 उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय पारिवारिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण (चरण-4) में देश भर के 6 लाख परिवारों, 7 लाख महिलाओं तथा 1.3 लाख पुरुषों से आंकड़े एकत्र किए गए तथा पहली बार जिलावार अनुमान (district-wise estimates) भी जारी किए गए हैं।

(Photo Courtesy : LiveMint)

………………………………………………………………….

7) किस सांसद (MP) ने फरवरी 2017 के दौरान एक निजी विधेयक (private bill) संसद में प्रस्तुत किया है जिसमें मतदाताओं की दृष्टि में अपने कर्तव्यों का पालन न कर पाने वाले सांसदों व विधेयकों की सदस्यता समाप्त करने के लिए मतदाताओं को मतदान का अधिकार देने की बात कही गई है? – वरुण गांधी (Varun Gandhi)

विस्तार: लोकसभा में भाजपा के सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने फरवरी 2017 के दौरान संसद में एक निजी विधेयक प्रस्तुत किया है जिसमें मतदाताओं को अपने चुने हुए सांसदों व विधायकों को वापस बुलाने का अधिकार प्रदान करने की बात कही गई है।

 इस विधेयक में कहा गया है कि ऐसे सांसदों तथा विधायकों को चुने जाने के दो वर्ष के भीतर वापस बुला लिया जाना चाहिए जिनका चुनाव करने वाले 75% मतदाता उनके प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं हैं। उनको वापस बुलाने के लिए एक विशेष कराने की व्यवस्था स्थापित करने की बात भी इस विधेयक में उल्लिखित है।

 इस सम्बन्ध में वरुण गांधी ने जनप्रतिनिधित्व कानून 1951 (Representation of the People Act 1951) में संशोधन करने के लिए जनप्रतिनिधित्व (संशोधन) कानून, 2016 को पारित करने का आह्वान करते हुए कहा है कि जनप्रतिनिधियों को वापस बुलाने के अधिकार को लेकर दुनिया भर के देशों में प्रयोग हुए हैं और हो रहे हैं।

 उल्लेखनीय है कि वर्तमान में जनप्रतिनिधियों को वापस बुलाने का अधिकार मतदाताओं को नहीं प्रदान किया गया है।

………………………………………………………………….

8) अजय त्यागी (Ajay Tyagi) ने 1 मार्च 2017 को देश के पूँजी बाजार की नियामक संस्था सेबी (SEBI) के नए अध्यक्ष (Chairman) का पदभार औपचारिक रूप से ग्रहण कर लिया। वे किस क्रम के अध्यक्ष हैं? – नौवें

विस्तार: वित्त मंत्रालय के अधिकारी अजय त्यागी 1 मार्च 2017 को भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (Securities and Exchange Board of India – SEBI) के नौंवे (9th) अध्यक्ष बन गए। उन्होंने इस महत्वपूर्ण तथा शक्तिशाली पद की कमान यू.के. सिन्हा (U.K. Sinha) से संभाली। SEBI अध्यक्ष के रूप में सिन्हा का कार्यकाल दूसरा सबसे लम्बा रहा (डी.आर. मेहता के बाद)।

 उल्लेखनीय है कि सेबी के पहले अध्यक्ष डॉ. एस.ए. दवे (Dr. S.A. Dave) थे और उनका कार्यकाल वर्ष 1988 से 1990 तक था। उनके बाद के सेबी के अध्यक्ष क्रमश: थे – जी.वी. रामकृष्णा (1990-94), एस.एस. नादकर्णी (1994-95), डी.आर. मेहता (1995-2002), जी.एन. बाजपेयी (2002-05), एम. दामोदरन (2005-08), सी.बी. भावे (2008-11) और यू.के. सिन्हा (2011-17)।

 जहाँ तक अजय त्यागी की इस पद पर नियुक्ति की बात है तो उन्हें देश के वित्तीय बाजारों की कार्यप्रणाली की अच्छी जानकारी है। उन्होंने वर्ष 2014 से वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग में अतिरिक्त सचिव की जिम्मेदारी निभाई है।

………………………………………………………………….

9) एक महत्वपूर्ण फैसले में केन्द्र सरकार ने देश में डिज़िटल (नकद-रहित) लेन-देन को बढ़ावा देने की जिम्मेदारी नीति आयोग (NITI Aayog) से लेकर किस मंत्रालय को सौंप दी है? – सूचना प्रौद्यौगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय (MEITY)

विस्तार: सरकार ने देश में डिज़िटल (नकद-रहित) लेन-देन को बढ़ावा देने की जिम्मेदारी नीति आयोग (NITI Aayog) से लेकर सूचना प्रौद्यौगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय (Ministry of IT and Electronics – MEITY) को सौंप दी है।

 इस निर्णय के पीछे मुख्य कारण सूचना प्रौद्यौगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय की विभिन्न प्रकार के डिज़िटल लेन-देन के ज्ञान तथा प्रसार में अन्तर्निहित दक्षता है। उल्लेखनीय है कि देश में नागरिकों के सशक्तीकरण से सम्बन्धित ई-गवर्नेंस योजनाओं, आईटी तथा इलेक्ट्रॉनिक उद्योगों को बढ़ावा देने की जिम्मेदारी आईटी मंत्रालय के ही पास है।

………………………………………………………………….

10) 28 फरवरी 2017 को किसे भारतीय महिला हॉकी टीम का नया मुख्य कोच नियुक्त किया गया? – शुअर्ड मरेन (Sjoerd Marijne)

विस्तार: नीदरलैण्ड्स (Netherlands) के पूर्व राष्ट्रीय कोच शुअर्ड मरेन (Sjoerd Marijne) को 28 फरवरी 2017 को भारतीय राष्ट्रीय महिला हॉकी टीम का नया मुख्य कोच (Chief Coach) नियुक्त कर दिया गया। उनका कार्यकाल 4 वर्ष का होगा तथा इस दौरान उनके ही देश के एरिक वोनिंक (Eric Wonink) उनके सहयोगी होंगे तथा महिला महिला टीम के विश्लेषणात्मक कोच (analytical coach) की जिम्मेदारी निभायेंगे।

 उल्लेखनीय है कि उनकी कोचिंग में उनके देश ने महिला अण्डर-21 हॉकी विश्व कप जीता था जबकि वरिष्ठ महिला टीम ने उनके नेतृत्व में हॉकी वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल में स्वर्ण पदक जीता था।

 वहीं 2011 से 2014 के बीच वे नीदरलैण्ड्स के पुरुष अण्डर-21 टीम के मुख्य कोच थे।

………………………………………………………………….

http://churugurukul.com/current-affairs-27-28-february-2017