Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 01 - 06 Sep 2017

1) इस अफ्रीकी देश में प्लास्टिक की थैलियों (plastic bags) पर दुनिया का अब तक का सबसे कड़ा प्रतिबन्ध अगस्त 2017 के दौरान लागू किया गया है जिसके तहत 4 वर्ष तक की जेल की सजा अथवा 4 लाख डॉलर तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है? – केन्या (Kenya)

विस्तार: पूर्वी अफ्रीकी देश केन्या (Kenya) की सरकार ने प्लास्टिक की थैलियों के खिलाफ एक बड़ी मुहिम 28 अगस्त 2017 को शुरू की जब उसने देश में इन पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगा दिया। इस प्रकार केन्या चीन, फ्रांस, इटली और रवाण्डा जैसे 40 से अधिक देशों की जमात में खड़ा हो गया जिन्होंने प्लास्टिक की थैलियों पर प्रतिबन्ध लगाया है।

लेकिन केन्या में लगाए गए इस प्रतिबन्ध की सबसे खास बात यह है कि यह प्लास्टिक थैलियों पर किसी देश में लगाया गया अब तक का सबसे कड़ा प्रतिबन्ध है। सरकार द्वारा जारी नियमों के तहत केन्या में अब प्लास्टिक की थैलियों का उत्पादन करने वाले, इनको बेचने वालों तथा यहाँ तक की इनका प्रयोग करने वालों को चार वर्ष के कारावास की सजा दी जा सकती है अथवा उनपर 4 लाख डॉलर तक का भारी-भरकम जुर्माना लगाया जा सकता है। नए नियमों के मुताबिक देश की पुलिस प्लास्टिक थैली का प्रयोग कर रहे व्यक्ति का पीछा कर उसे गिरफ्तार भी कर सकती है।

उल्लेखनीय है कि प्लास्टिक की थैलियों से नालियाँ चोक हो जाती हैं, महासागरों के जीव-जन्तुओं का जीवन संकट में पड़ सकता है, यह सीबर्ड्स (seabirds), डॉल्फिन्स (dolphins) और व्हेल (whale) के पेट में जाकर उनकी मौत तक का करण बन जाती है।

……………………………………………………………..

2) स्वदेशी नैवीगेशन सेवाओं (indigenous navigation services) को देश में मजबूत करने के उद्देश्य से इसरो (ISRO) द्वारा प्रक्षेपित किए जा रहे IRNSS-1H उपग्रह का प्रक्षेपण 31 अगस्त 2017 को तब सफल हो गया जब इसे ले जाने वाले पीएसएलवी (PSLV) रॉकेट का हीट शील्ड खुल नहीं पाया। इस असफल प्रक्षेपण से जुड़ा एक अहम तथ्य क्या था? – यह पहला मौका था जब उपग्रह के विकास में निजी एजेंसियों ने भूमिका निभाई थी

विस्तार: यदि 1425 किलो भार वाले IRNSS-1H उपग्रह का प्रक्षेपण सफल हो जाता तो यह इससे भारत के अंतरिक्ष अन्वेषण इतिहास में एक नए दौर का सूत्रपात होता क्योंकि यह पहला मौका था जब किसी उपग्रह के विकास, एसेम्बली और टेस्टिंग में निजी एजेंसियों ने भूमिका निभाई है। अभी तक उपग्रह प्रक्षेपण में निजी क्षेत्र की भूमिका उपकरणों की आपूर्ति तक सीमित रही है।

लेकिन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) को मिली एक अप्रत्याशित असफलता में श्रीहरिकोटा स्थित उपग्रह प्रक्षेपण केन्द्र से 31 अगस्त 2017 को उपग्रह का प्रक्षेपण उस समय असफल हो गया जब चौथे चरण में हीट शील्ड अपने स्थान से अलग नहीं हो पाई। इसके चलते यह उपग्रह अपनी अपेक्षित कक्षा में स्थापित नहीं हो पाया।

उल्लेखनीय है कि IRNSS-1H उपग्रह को IRNSS 1-A का स्थान लेना था जिसका प्रक्षेपण 1 जुलाई 2013 को किया गया था।

……………………………………………………………..

3) अगस्त 2017 के दौरान भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने किस स्मॉल बैंक श्रेणी के बैंकिंग उपक्रम को अनुसूचित बैंक का दर्जा प्रदान करने की घोषणा की? – उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड

विस्तार: उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड (Ujjivan Small Finance Bank Ltd.), जोकि उज्जीवन फाइनेंस सर्विसेज़ लिमिटेड (Ujjivan Financial Services Ltd.) के पूर्ण स्वामित्व वाला स्मॉल बैंक श्रेणी का बैंकिंग उपक्रम है, को भारतीय रिज़र्व बैंक ने अगस्त 2017 के दौरान अनुसूचित बैंक (scheduled bank) का दर्जा प्रदान करने की घोषणा की। उल्लेखनीय है कि इस बैंक ने स्मॉल बैंक के तौर पर अपना परिचालन 1 फरवरी 2017 को शुरू किया है। वर्तमान में इस बैंक की देश के आठ राज्यों और 2 केन्द्र शासित प्रदेशों में परंपरागत बैंक शाखाएं हैं।

अब अनुसूचित बैंक का दर्जा मिल जाने से उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक की बाजार में स्वीकार्यता बढ़ेगी तथा इसे संस्थागत जमा प्रतिस्पर्धी दरों पर हासिल करने में आसानी होगी।

……………………………………………………………..

4) वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही (यानि अप्रैल-जून 2017) के दौरान भारत की सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर (GDP growth rate) कितनी रही, जोकि पिछले 3 वर्षों की न्यूनतम वृद्धि दर है? – 5.7%

विस्तार: केन्द्र सरकार द्वारा 31 अगस्त 2017 को जारी आंकड़ों के अनुसार अप्रैल-जून 2017, जोकि चालू वित्त वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही है, के दौरान भारत की आर्थिक वृद्धि दर मात्र 5.7% रही। यह पिछले तीन वर्ष की सबसे कम तिमाही वृद्धि दर है।

पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 7.9% थी। उल्लेखनीय है कि मार्च 2016 के बाद से तिमाही वृद्धि दर लगातार कम हो रही है। मार्च 2016 में समाप्त हुई तिमाही में वृद्धि दर बेहद शानदार 9.1% थी।

आर्थिक विश्लेषकों के अनुसार वृद्धि दर में इस भारी गिरावट का मुख्य कारण अर्थव्यवस्था को नवम्बर 2016 में घोषित विमुद्रीकरण (Demonetization) के कारण लगी चोट तथा 1 जुलाई 2017 से शुरू हुई जीएसटी प्रणाली की शुरूआती दिक्कतें हैं।

……………………………………………………………..

5) 31 अगस्त 2017 को किसे भारत का नया परीक्षक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) नियुक्त किया गया? – राजीव मेहर्षि (Rajiv Mehrishi)

विस्तार: अभी तक गृह सचिव (Home Secretary) का कार्य देख रहे राजीव मेहर्षि (Rajiv Mehrishi) को 31 अगस्त 2017 को भारत का नया परीक्षक एवं महालेखा परीक्षक (Comptroller and Auditor General of India – CAG) नियुक्त किया गया। केन्द्रीय गृह सचिव के तौर पर उनका कार्यकाल 31 अगस्त को ही पूरा हुआ। उन्होंने शशिकांत शर्मा (Shashi Kant Sharma) का स्थान लिया जो 23 मई 2013 से इस पद पर तैनात थे।

परीक्षक एवं महालेखा परीक्षक भारतीय संविधान द्वारा सृजित एक संवैधानिक पद है जो भारत सरकार तथा सभी राज्य सरकारों के खर्चों और प्राप्तियों पर पैनी नज़र रखता है। इसे सरकार द्वारा प्रबन्धित तथा वित्त पोषित संस्थानों के वित्तीय काम-काज को देखने का अधिकार भी हासिल है।

……………………………………………………………..

6) तीन-सदस्यीय भारत के चुनाव आयोग (Election Commission of India – ECI) में 31 अगस्त 2017 को किसे चुनाव आयुक्त (Election Commissioner) नियुक्त किया गया? – सुनील अरोड़ा (Sunil Arora)

विस्तार: वरिष्ठ आई.ए.एस. अधिकारी सुनील अरोड़ा (Sunil Arora) को 31 अगस्त 2017 को भारत के चुनाव आयोग में चुनाव आयुक्त (Election Commissioner) नियुक्त किया गया। तीन-सदस्यीय चुनाव आयोग में आचल कुमार जोती (Achal Kumar Joti) जहाँ मुख्य चुनाव आयुक्त (Chief Election Commissioner) हैं वहीं ओम प्रकाश रावत (Om Prakash Rawat) चुनाव आयुक्त हैं। जोती के मुख्य चुनाव आयुक्त बन जाने के बाद चुनाव आयुक्त का पद रिक्त था।

जोती ने जुलाई 2017 में मुख्य चुनाव आयुक्त के पद से नसीम ज़ैदी (Nasim Zaidi) के सेवानिवृत्त हो जाने के बाद यह पद संभाला था।

……………………………………………………………..

7) तीन-दिवसीय ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 3 सितम्बर 2017 से किस चीनी शहर में शुरू हुआ? – शियामेन (Xiamen)

विस्तार: वर्ष 2017 का ब्रिक्स शिखर सम्मेलन, जोकि 5-ब्रिक्स देशों के राष्ट्राध्यक्षों का नौंवां शिखर सम्मेलन है, का आयोजन चीन के दक्षिणपूर्वी प्रांत फूजियान के शियामेन (Xiamen) शहर में 3 सितम्बर 2017 से शुरू हुआ। यह दूसरा मौका है जब चीन ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। इससे पूर्व उसने वर्ष 2011 में सान्या (Sanya) में यह आयोजन किया था।

5 ब्रिक्स देशों (ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के राष्ट्राध्यक्ष इस सम्मेलन में प्रतिभागिता कर रहे हैं। भारत का प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कर रहे हैं।

4 सितम्बर 2017 को भारत को एक महत्वपूर्ण कूटनीतिक जीत हासिल हुई जब सम्मेलन में ब्रिक्स देशों ने पाकिस्तान के आतंकवादी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा (LeT), जैश-ए-मोहम्मद (JeM) और हक्कानी नेटवर्क की आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तता को लेकर एक कड़ी विज्ञप्ति जारी की। इसका महत्व इसलिए अधिक है क्योंकि चीन पाकिस्तान का एक मजबूत सहयोगी है तथा इसके बावजूद ऐसी विज्ञप्ति जारी की गई। हालांकि शिखर सम्मेलन द्वारा जारी घोषणापत्र (Summit Declaration) में ऐसा उल्लेख नहीं किया गया है।

……………………………………………………………

8) भारत की पहली महिला पूर्ण-कालिक रक्षा मंत्री (First-ever full-time woman Defence Minister of India) बनकर निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने 3 सितम्बर 2017 को नया इतिहास रच दिया। भारत के रक्षा मंत्रालय का नेतृत्व करने वाली अन्य महिला कौन थीं? – इंदिरा गांधी (Indira Gandhi)

विस्तार: अभी तक भारत के रक्षा मंत्रालय का नेतृत्व करने वाली एक मात्र महिला पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) थी। उन्होंने पहली बार 1975 में तथा दूसरी बार 1980 से 1982 के बीच रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाली थी। लेकिन वे पूर्ण-कालिक रक्षा मंत्री नहीं तथा उन्होंने अपनी प्रधानमंत्रित्व जिम्मेदारी के अलावा रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी अतिरिक्त जिम्मेदारी के रूप में निभाई थी।

3 सितम्बर 2017 को निर्मला सीतारमण पहली पूर्ण-कालिक रक्षा मंत्री बन गईं। अभी तक रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के पास अतिरिक्त जिम्मेदारी के रूप में थी जबकि सीतारमण वाणिज्य मंत्रालय में राज्य मंत्री की भूमिका निभा रही थीं। इस महत्वपूर्ण पद पर उनकी पदोन्नति 3 सितम्बर 2017 को केन्द्रीय मंत्रिपरिषद के विस्तार में की गई है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2008 में भाजपा में शामिल होने वाली निर्मला सीतारमण ने दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) से अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर उपाधि हासिल की है। उन्होंने कुछ समय के लिए लंदन में बीबीसी वर्ल्ड सर्विस और प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स (PwC) में काम किया था। वर्ष 2010 में उन्हें का प्रवक्ता बनाया गया था।

……………………………………………………………

9) 3 सितम्बर 2017 को हुए मंत्रिमण्डल विस्तार में सुरेश प्रभु (Suresh Prabhu) के स्थान पर किसे नया रेल मंत्री (Rail Minister) बनाया गया? – पियूष गोयल (Piyush Goyal)

विस्तार: पियूष गोयल (Piyush Goyal) 3 सितम्बर 2017 को नए रेल मंत्री बन गए। उन्होंने सुरेश प्रभु (Suresh Prabhu) का स्थान लिया। उल्लेखनीय है कि प्रभु ने अगस्त 2017 के दौरान रेल के पटरी से उतरने की चार दिनों के भीतर दो दुर्घटनाओं के बाद 23 अगस्त 2017 को अपने पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी। पियूष गोयल को रेल मंत्री बनाने के बाद सुरेश प्रभु को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई।

गोयल अभी तक ऊर्जा मंत्रालय की जिम्मेदारी निभा रहे थे। उन्होंने ग्रामीण विद्युतीकरण को गति देने, सौर ऊर्जा का विस्तार करने तथा कर्जे के बोझ के तले दबी बिजली कम्पनियों को संकट से उबारने के लिए उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना (UDAY) जैसी प्रभावशाली योजना शुरू करने में अहम भूमिका निभाई थी।

……………………………………………………………

10) 3 सितम्बर 2017 को नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में कुल कितने नए मंत्री शामिल किए गए? – नौ

विस्तार: नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्रीय मंत्रिपरिषद के 3 सितम्बर 2017 को किए गए विस्तार में कुल नौ नए मंत्री शामिल किए गए। इन सभी को राज्य मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी गई। ये 9 नए मंत्री हैं – शिव प्रताप शुक्ल (राज्य मंत्री, वित्त मंत्रालय), आर.के. सिंह (राज्य मंत्री, ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा), अश्विनी कुमार चौबे (राज्य मंत्री, स्वास्थ्य मंत्रालय), वीरेन्द्र कुमार (राज्य मंत्री, महिला एवं बाल विकास), सत्यपाल सिं (राज्य मंत्री, मानव संसाधन एवं जल संसाधन व गंगा पुनरोद्धार), अल्फोंस कन्नानथानम (राज्य मंत्री, पर्यटन तथा इलेक्ट्रॉनिक्स व आईटी), अनंत कुमार हेगड़े (राज्य मंत्री, स्किल डेवलपमेण्ट), गजेन्द्र सिंह शेखावत (राज्य मंत्री, कृषि मंत्रालय) और हरदीप सिंह पुरी (राज्य मंत्री, आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय)।

इस कैबिनेट विस्तार में पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को कौशल विकास तथा उद्यमिता मंत्रालय की जिम्मेदारी भी सौंपी गई। यह मंत्रालय अभी तक राजीव प्रताप रूड़ी के पास था।

इस कैबिनेट विस्तार के बाद केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में मंत्रियों की कुल संख्या वर्तमान 73 से बढ़कर 76 हो गई है।

……………………………………………………………

11) किस उपक्रम ने अगले पाँच वर्ष के लिए इण्डियन प्रीमियर लीग (IPL) के मैचों के टेलीविज़न और डिज़िटल अधिकार (TV and digital rights) 16347.5 करोड़ रुपए की भारी-भरकम कीमत पर 4 सितम्बर 2017 को हासिल कर लिए? – स्टार इण्डिया (Star India)

विस्तार: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) द्वारा 4 सितम्बर 2017 को की गई घोषणा के अनुसार सुप्रसिद्ध इंटरटेनमेण्ट प्रसारक स्टार इण्डिया (Star India) ने वर्ष 2018 से 2022 तक की 5 वर्षों की समयावधि के लिए इण्डियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League – IPL) के मैचों के टेलीविज़न और डिज़िटल अधिकार 16347.5 करोड़ रुपए में हासिल कर लिए हैं। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2008 से 2017 की 10 वर्षों की समयावधि के लिए आईपीएल के टेलीविज़न प्रसारण अधिकार सोनी (Sony) के पास थे जबकि स्टार इण्डिया के पास वर्ष 2017 तक डिज़िटल प्रसारण अधिकार थे।

आईपीएल की लोकप्रियता को इस तथ्य से समझा जा सकता है कि वर्ष 2008 में सोनी (Sony) ने आईपीएल के 10 वर्ष के प्रसारण अधिकार मात्र 8200 करोड़ रुपए में हासिल किए थे।

……………………………………………………………

12) अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने 1 सितम्बर 2017 को किसे भारत में अमेरिका के अगले राजदूत (US ambassador to India) के तौर पर नामित कर दिया? – केनेथ जस्टर (Kenneth Juster)

विस्तार: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने प्रमुख आर्थिक राजनयिक केनेथ जस्टर (Kenneth Juster) को 1 सितम्बर 2017 को भारत में अमेरिका के अगले राजदूत के तौर पर नामित कर दिया। जस्टर वर्तमान में अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक मामलों पर राष्ट्रपति ट्रम्प की समिति के उप-सहायक हैं तथा उनकी राष्ट्रीय आर्थिक परिषद (National Economic Council) में उप-निदेशक हैं। अमेरिकी वणिज्य विभाग के अवर-सचिव के तौर पर उन्होंने भारत और अमेरिका के मध्य हुए असैन्य परमाणु समझौते (Civilian Nuclear Cooperation Agreement) को कार्यान्वित करने में प्रमुख भूमिका निभाई थी।

यदि अमेरिकी सीनेट (Senate) उनकी नियुक्ति को स्वीकृति प्रदान कर देती है तो वे भारत में अमेरिका के राजदूत के पद पर वर्तमान में तैनात रिचर्ड वर्मा (Richard Verma) का स्थान लेंगे।

……………………………………………………………

13) किस बैंकिंग उपक्रम को आरबीआई (RBI) ने 4 सितम्बर 2017 को देश की अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण बैंक (“Domestic-Systemically Important Bank” – D-SIB) घोषित किया जिससे यह बैंक इस श्रेणी में शामिल किया जाने वाला देश का तीसरा बैंक बन गया? – एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank)

विस्तार: भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा (RBI) 4 सितम्बर 2017 को की गई घोषणा के अनुसार एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) देश की अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण बैंकों की श्रेणी का बैंक (“Domestic-Systemically Important Bank” – D-SIB) बन गया है। इस प्रकार यह इस श्रेणी में लाया जाने वाला देश का तीसरा बैंक बन गया है। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) इस श्रेणी के अन्य दो बैंक हैं। इस श्रेणी के बैंक को “टू-बिग-टू-फेल” (“Too-Big-to-Fail”) के अनौपचारिक नाम से भी जाना जाता है।

आरबीआई प्रत्येक वर्ष श्रेणी के बैंकों की घोषणा करता है। वर्ष 2015 में जारी इस श्रेणी में भारतीय स्टेट बैंक और आईसीआईसीआई बैंक को शामिल किया गया था।

D-SIB श्रेणी का अर्थ होता है कि ऐसे बैंकिंग उपक्रम के असफल से देश की पूरी वित्तीय प्रणाली प्रभावित होगी तथा अर्थव्यवस्था पर भारी चोट लगेगी। इसलिए इस श्रेणी के बैंकों को टियर-1 इक्विटी में लगातार अधिक परिसम्पत्तियाँ (progressively higher share of risk-weighted assets) रखने की व्यवस्था की गई है। परिसम्पत्तियों की मात्रा बैंक की कोर पूँजी की मात्रा पर निर्भर करती है। एचडीएफसी बैंक के मामले में उसे 1 अप्रैल 2018 से अतिरिक्त परिसम्पत्तियों की व्यवस्था करनी होगी।

………………………………………………………………..

14) 5 सितम्बर 2017 को किस शहर की मेट्रो रेल प्रणाली का उद्घाटन किया गया जिससे यह शहर मेट्रो रेल संचालन सुविधा वाला देश का नौंवा शहर बन गया? – लखनऊ (Lucknow)

विस्तार: लखनऊ देश के मेट्रो रेल प्रणाली नक्शे पर तब शामिल हो गया जब 5 सितम्बर 2017 को केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और राज्य के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (Lucknow Metro Rail Corporation – LMRC) के पहले चरण पर चलने वाली मेट्रो रेल को झण्डी दिखा कर रवाना किया।

LMRC की पहले चरण की इस मेट्रो सेवा की कुल लम्बाई 8.5 किलोमीटर है तथा इसमें ट्रांसपोर्ट नगर (Transport Nagar) को चारबाग (Charbagh) से जोड़ा गया है। इस पर रोजाना प्रात: 6 बजे से रात 10 बजे के बीच मेट्रो ट्रेनों का संचालन किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने दिसम्बर 2016 में इसी चरण पर परीक्षण ट्रेन (trial train) का उद्घाटन किया है। अब इस चरण पर काम पूरा हो चुका है तथा 6 सितम्बर 2017 से यह आम जनता के लिए खोल दिया जायेगा।

भारत में मेट्रो रेल प्रणाली की सुविधा वाले अन्य आठ शहर हैं – कोलकाता, दिल्ली, बेंगलूरू, गुड़गाँव, मुम्बई, जयपुर, चेन्नई और कोच्चि।

………………………………………………………………..

15) सितम्बर 2017 के दौरान ब्रिक्स अंतर-बैंक सहयोग प्रणाली (BRICS ICM) के 5 सदस्य बैंकों ने स्थानीय मुद्रा में ऋण प्रदान करने तथा क्रेडिट रेटिंग्स पर परस्पर सहयोग करने के लिए एक समझौता हस्ताक्षरित किया। ब्रिक्स की ICM में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाला बैंकिंग उपक्रम कौन सा है? – एक्ज़िम बैंक ऑफ इण्डिया (EXIM Bank of India)

विस्तार: उल्लेखनीय है कि ब्रिक्स अंतर-बैंक सहयोग प्रणाली (BRICS Interbank Cooperation Mechanism (BRICS ICM) में ब्रिक्स के 5 सदस्य देशों का प्रतिनिधित्व कर रहे 5 बैंकिंग उपक्रम हैं – एक्सिम बैंक ऑफ इण्डिया (भारत), Banco Nacional de Desenvolvimento Economico e Social (ब्राज़ील), चाइना डेवलपमेण्ट बैंक (चीन), डेवलपमेण्ट बैंक ऑफ साउथ अफ्रीका (दक्षिण अफ्रीका) और Vnesheconombank (रूस)।

ब्रिक्स देशों के वर्ष 2017 के शिखर सम्मेलन के पूर्व 2 सितम्बर 2017 को इन 5 बैंकिंग उपक्रमों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (CEOs) ने स्थानीय मुद्रा में ऋण प्रदान करने (establish local currency credit lines) तथा क्रेडिट रेटिंग्स (credit ratings) पर परस्पर सहयोग करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।

उल्लेखनीय है कि स्थानीय मुद्राओं का प्रयोग वित्त पोषण सम्बन्धित गतिविधियों में करने से आर्थिक सहयोग को बढ़ाने में मदद मिलेगी, ऋण जोखिमों को कम किया जा सकेगा, व्यापार में वृद्धि की जा सकेगी तथा अन्य ब्रिक्स देशों के बाजारों तक पहुँचने में कम्पनियों को आसानी होगी।

………………………………………………………………..

16) सितम्बर 2017 के दौरान किस विदेशी बैंक (foreign bank) को पूर्ण स्वामित्व वाले सहयोगी उपक्रम (wholly owned subsidiary – WOS) के माध्यम से भारत में बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) की स्वीकृति हासिल हुई है जिससे वह यह स्वीकृति हासिल करने वाला दूसरा विदेशी बैंक बन गया है? – डीबीएस बैंक लिमिटेड (DBS Bank Limited)

विस्तार: सिंगापुर (Singapore) में मुख्यालय वाले डीबीएस बैंक लिमिटेड (DBS Bank Limited) ने 4 सितम्बर 2017 को घोषणा की कि उसे पूर्ण स्वामित्व वाले सहयोगी उपक्रम (wholly owned subsidiary – WOS) के माध्यम से भारत में बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक की स्वीकृति मिल गई है। इस प्रकार डीबीएस ऐसी स्वीकृति हासिल करने वाला दूसरा विदेशी बैंक बन गया है।

पूर्ण स्वामित्व वाली सहयोगी कम्पनी के माध्यम से भारत में बैंकिंग सेवाएं शुरू करने से सम्बन्धित स्वीकृति हासिल करने वाला पहला विदेशी बैंक स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस (State Bank of Mauritius) है।

उल्लेखनीय है कि भारतीय रिज़र्व बैंक चाहता है कि विदेशी बैंक भारत में अपनी सेवाएं पूर्ण स्वामित्व वाले उपक्रम के माध्यम से प्रदान करे। इससे ऐसे विदेशी बैंकों की मातृ-कम्पनियों के समक्ष आ रही वित्तीय दुश्वारियों की छाया उनके भारतीय व्यवसाय पर नहीं पड़ेगी तथा इससे इनका नियमन (regulation) भी अधिक प्रभावी बनाया जा सकेगा। इस सम्बन्ध में आरबीआई ने नवम्बर 2013 में विदेशी बैंकों के पूर्ण स्वामित्व वाले सहयोगी उपक्रमों से जुड़े नियम जारी किए थे।

………………………………………………………………..

17) भारतीय मूल के उस एक्ज़ीक्यूटिव का क्या नाम है जिसे यूरोप की सबसे बड़ी फार्मा कम्पनी नोवार्टिस (Novartis) का अगला मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) नियुक्त किया गया? – वसंत नरसिम्हन (Vasant Narasimhan)

विस्तार: 41-वर्षीय वसंत नरसिम्हन (Vasant Narasimhan), जोकि हार्वर्ड में शिक्षित भारतीय मूल के एक डॉक्टर हैं, को दिग्गज फार्मा उत्पादक कम्पनी नोवार्टिस फार्मा एजी (Novartis Pharma AG) ने अपना अगला मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) नियुक्त कर दिया। वे वर्तमान में इस कम्पनी में मुख्य मेडिकल अधिकारी (CMO) तथा औषधि विकास (drug development) के वैश्विक प्रमुख (global head) हैं।

नोवार्टिस ने यह घोषणा 5 सितम्बर 2017 को की तथा इसके साथ यह सूचना भी दी कि पिछले आठ वर्षों से इस पद पर तैनात जोसेफ जिमेनेज़ (Joseph Jimenez) 1 फरवरी 2018 को यह पद छोड़ देंगे जिसके बाद वसंत यह पद संभाल लेंगे।

उल्लेखनीय है कि नोवार्टिस यूरोप की सबसे बड़ी दवा कम्पनी है जबकि दुनिया की सबसे बड़ी दवा कम्पनी में भी इसका शुमार है। कम्पनी का मुख्यालय स्विटज़रलैण्ड (Switzerland) के बेसल (Basel) में है। वर्ष 2016 में कम्पनी का कुल राजस्व 48 अरब डॉलर से अधिक था।

………………………………………………………………..

http://churugurukul.com/?q=current-affairs-29-31-aug-2017