Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 05 - 06 February 2017

1) प्रस्तावित स्थानीय निकाय चुनावों (civic bodies’ elections) के विरोध में देश के किस पूर्वोत्तर राज्य में जनवरी व फरवरी 2017 के दौरान कई हिंसात्मक घटनाएं घटीं? – नागालैण्ड (Nagaland)

विस्तार: स्थानीय निकाय चुनावों के आयोजन के खिलाफ लामबंद नगा लोगों का विरोध 28 जनवरी और 2 फरवरी 2017 को हिंसात्मक हो गया। इसके चलते राज्य में 2 लोग मारे गए तथा दीमापुर और कोहिमा जिलों में कर्फ्यू और धारा 144 लगा दी गई।

 इस हिंसा के केन्द्र में राज्य में प्रस्तावित स्थानीय निकाय चुनाव थे। उल्लेखनीय है कि नागालैण्ड की राज्य सरकार ने दिसम्बर 2016 में यह निर्णय लिया था कि महिलाओं को 33% आरक्षण प्रदान करने के परिप्रेक्ष्य में राज्य में स्थानीय निकाय चुनावों का आयोजन किया जायेगा। इन चुनावों के लिए 1 फरवरी 2017 की तिथि तय की गई थी। लेकिन प्रमुख जनजातीय संगठन “नागा होहो” (‘Naga Hoho’) समेत राज्य की तमाम जनजातीय संस्थाओं ने इन चुनावों के आयोजन का विरोध करना शुरू कर दिया था।

 इन पक्षो की दलील है कि महिलाओं को स्थानीय निकायों में आरक्षण प्रदान करने से भारतीय संविधान के अनुच्छेद 371 “A” का उल्लंघन होता है। इस अनुच्छेद के तहत नागा जनजातियों को अपनी संस्कृति तथा प्रथाओं का संरक्षण करने का अधिकार प्रदान किया गया है। हालांकि राज्य सरकार ने 31 जनवरी 2017 को स्थानीय निकाय चुनावों को अनिश्चित काल तक टालने की घोषणा भी कर दी थी।

…………………………………………………………………

2) दिग्गज टैक्नोलॉजी कम्पनी एप्पल (Apple Inc.) भारत के किस राज्य में अपने मशहूर फोन ब्राण्ड आईफोन (iPhone) की एसेम्बली इकाई लगायेगी? – कर्नाटक (Karnataka)

विस्तार: कर्नाटक (Karnataka) सरकार द्वारा 2 फरवरी 2017 को जारी एक विज्ञप्ति में उसने राज्य में एप्पल (Apple Inc.) द्वारा अपनी उत्पादन इकाई लगाने पर सहमति जताने हेतु उक्त संयंत्र के लिए कम्पनी का राज्य में स्वागत किया है।

 राज्य सरकार द्वारा इस सम्बन्ध में जारी जानकारी के अनुसार राजधानी बेंगलूरु के पास स्थित पीन्या (Peenya) औद्यौगिक क्षेत्र में ताइवान (Taiwan) की कम्पनी विस्ट्रॉन (Wistron) आईफोन की एक एसेम्बली इकाई स्थापित करेगी। उल्लेखनीय है कि यह कम्पनी एप्पल के लिए तमाम उपकरण बनाने का काम करती है तथा कम्पनी ने इसे भारत में स्थापित किए जा रहे एसेम्बली संयंत्र को संचालित करने का काम सौंपा है।

 इसके साथ ही भारत एप्पल के आईफोन की एसेम्बली संयंत्र वाला दुनिया का मात्र तीसरा देश बन जायेगा (अमेरिका व चीन के बाद)। एप्पल के इस निर्णय से यह भी स्पष्ट होता है कि कम्पनी भारत को कितना महत्व प्रदान कर रही है।

…………………………………………………………………

3) तमिलनाडु में जनवरी-फरवरी 2017 के दौरान एक बड़ा तेल रिसाव होने के कारण चेन्नई, तिरुवल्लुर और कांचीपुरम जिलों के तटीय क्षेत्रों में हजारों टन कच्चा तेल व लुब्रिकेंट आकर जमा हो गया तथा एक बड़ा पर्यावरणीय संकट खड़ा हो गया। तेल का यह रिसाव (oil spill) किस तेल टैंकर से हुआ? – एम.टी. डॉन कांचीपुरम (M T Dawn Kanchipuram)

विस्तार: एम.टी. डॉन कांचीपुरम (M T Dawn Kanchipuram), जोकि 32,813 टन पेट्रोलियम, तेल तथा ल्यूब्रिकेंट्स से लदा हुआ था, की टक्कर एन्नोर (Ennore) स्थित कमराजर बंदरगाह (Kamrajar Port) के पास एक अन्य पोत ए.टी. बी.डब्ल्यू.मेपल (M T BW Maple) से 28 जनवरी 2017 को गई थी। इस टक्कर के चलते इस तेल टैंकर से रिसाव शुरू हो गया था।

 टक्कर होने के तत्काल बाद कामराजर बंदरगाह ने रिसाव का प्रभाव कम करने के उपाय शुरू कर दिए थे लेकिन इसके बावजूद भारी संख्या में तेल तथा अन्य उत्पाद चेन्नई (Chennai), तिरुवल्लुर (Tiruvallur) और कांचीपुरम (Kancheepuram) के समुद्र तटों पर पहुँच गया था। इससे तमिलनाडु में एक बड़ा पर्यावरणीय संकट पैदा हो गया।

 इस तेल रिसाव को रोकने तथा इसका प्रभाव कम करने के लिए तमाम संगठनों जैसे भारतीय तटरक्षक बल (Indian Coast Guard), भारतीय नौसेना (Indian Navy), इण्डियन ऑयल (IOC) के सदस्यों ने तटों को साफ रखने की कोशिश की। इसके तहत 2 फरवरी 2017 तक 65 टन तेल को तट से साफ किया जा चुका था। हालांकि रिसाव के कारण संकट बना हुआ है और भारी में समुद्री जीवों और वनस्पति को नुकसान हुआ है।

…………………………………………………………………

4) भारतीय रेल (Indian Railway) ने रेल प्रणाली में सुरक्षा को बढ़ाने के उद्देश्य से 2 फरवरी 2017 को इटैलियन रेलवे (Italian Railway) से जुड़े किस उपक्रम के साथ एक महत्वपूर्ण करार किया है? – एफएस इटालियान ग्रुप (FS Italiane Group)

विस्तार: पिछले कुछ समय से घटित कुछ बड़ी दुर्घटनाओं को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेलवे ने 2 फरवरी 2017 को इटैलियन रेलवे से जुड़े उपक्रम – एफएस इटालियान ग्रुप (FS Italiane Group) के साथ एक संधि हस्ताक्षरित की। इस संधि पर एफएस इटालियान ग्रुप के सीईओ (CEO) व प्रबन्ध निदेशक (MD) रेनाटो माज़ोनसिनी (Renato Mazzoncini) और भारतीय रेल के अध्यक्ष (Chairman) ए.के. मित्तल (A K Mittal) ने हस्ताक्षर किए।

 इस संधि के तहत एफएस इटालियान ग्रुप वह समस्त अत्याधुनिक प्रौद्यौगिकी भारतीय रेल को प्रदान करेगा जिसका विकास करते हुए उसने इटली के दो महत्वपूर्ण शहरों रोम (Rome) और मिलान (Milan) को जोड़कर यह दूरी मात्र 3 घण्टों के सफर में समेत दी है।

 उल्लेखनीय है कि एफएस इटालियान ग्रुप इंजीनियरिंग, इन्फ्रास्ट्रक्चर और यातायात के क्षेत्र में दुनिया का एक प्रमुख उपक्रम है तथा यह पाँच महाद्वीपों के 60 से अधिक देशों में अपनी तमाम सेवाओं का संचालन करता है।

…………………………………………………………………

5) अमेरिका के उस फेडरल न्यायाधीश का क्या नाम है जिसने 3 फरवरी 2017 को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश करने पर प्रतिबन्ध लगाने वाले आदेश पर अस्थाई रोक लगाने का आदेश जारी कर दिया? – जेम्स रॉबर्ट (James Robart)

विस्तार: जस्टिस जेम्स रॉबर्ट्स (Judge James Robart), जोकि वाशिंग्टन डी.सी. में न्यायाधीश हैं, ने 3 फरवरी 2017 को अपने आदेश में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald TRump) के उस बेहद विवादास्पद आदेश पर अस्थाई प्रतिबन्ध लगा दिया जिसके द्वारा कुल 7 मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिकी वीज़ा हासिल करने तथा अमेरिका में शरण लेने पर अस्थाई पाबंदी लगा दी गई थी।

 अपने इस आदेश के लिए जस्टिस रॉबर्ट ने सरकारी वकील से यह प्रश्न किया कि 11 सितम्बर 2001 की आतंकी घटना के सिलसिले में अमेरिका ने अब तक कितने विदेशी नागरिकों की गिरफ्तारी की है। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति ट्रम्प के प्रतिबन्ध आदेश के पीछे एक प्रमुख दलील यह घटना थी।

 रॉबर्ट वाशिंग्टन राज्य में वर्ष 2004 से फेडरल न्यायाधीश हैं। उन्हें वर्ष 2016 में वरिष्ठ न्यायाधीश का दर्जा मिला था।

…………………………………………………………………

 

http://churugurukul.com/current-affairs-03-04-february-2017