Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 09 -12 May 2017

1) 8 मई 2017 को वामपंथी चरमपंथ की स्थिति की समीक्षा के लिए हुई बैठक में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने देश में व्याप्त नक्सलवाद की समस्या को सुलझाने के लिए कौन सा नया सिद्धांत (Doctrine) प्रतिपादित किया? – “समाधान”

विस्तार: “समाधान” (‘SAMADHAN’) एक नए सिद्धांत का नाम है जो केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा 8 मई 2017 को वामपंथी चरमपंथ की स्थिति की समीक्षा के लिए हुई बैठक (Left Wing Extremism Situation Review Meeting) के दौरान दिया गया। इस बैठक में नक्सलवाद की चपेट से ग्रस्त राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भाग लिया। इस बैठक में राजनाथ सिंह द्वारा दिए गए नए सिद्धांत अथवा सूत्र – “समाधान” का अर्थ है – Smart leadership, Aggressive strategy, Motivation and training, Actionable intelligence, Dashboard-based key performance indicators and key result areas, Harnessing technology, Action plan for each threat, No access to funding।

नक्सलवाद पर नकेल कसने के लिए प्रतिपादित इस नए सिद्धांत में द्रोण तथा स्मार्ट बंदूकों के इस्तेमाल से नक्सलवादियों पर अंकुश लगाने की कोशिश की जायेगी। ऐसे आधुनिक उपकरणों में बायो-मीट्रिक पहचान की आवश्यकता इनके संचालन के लिए की जाती है।

इस महत्वपूर्ण बैठक में कई राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए – योगी आदित्यनाथ (उत्तर प्रदेश), नवीन पटनाइक (ओडीशा), रमन सिंह (छत्तीसगढ़), देवेन्द्र फडनवीस (महाराष्ट्र), नितीश कुमार (बिहार) और रघुवर दास (झारखण्ड)।

वहीं नक्सल प्रभावित तीन राज्यों पश्चिम बंगाल (ममता बनर्जी), चन्द्रबाबू नायडू (आन्ध्र प्रदेश) और के. चन्द्रशेखर राव (तेलंगाना) इस बैठक में शामिल नहीं हुए।

………………………………………………………….

2) केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (CRPF) ने 8 मई 2017 को अपने माओ-रोधी कूटनीतिक कमान मुख्यालय को स्थानांतरित कर रायपुर (Raipur) में स्थापित करने की घोषणा की। यह मुख्यालय अभी तक कहाँ स्थित था? – कोलकाता (Kolkata)

विस्तार: केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल ने कोलकाता (Kolkata) स्थित अपने माओ-रोधी कूटनीतिक कमान मुख्यालय (strategic anti-Maoist command headquarters) को छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में स्थानांतरित करने की घोषणा की। यह निर्णय केन्द्र सरकार की उस नीति के तहत लिया गया जिसमें अपेक्षाकृत शांत पश्चिम बंगाल से बलों को छत्तीसगढ़ के माओवादी गढ़ अबूझमाड़ में भेजने की रणनीति बनाई गई थी।

उल्लेखनीय है कि सात वर्ष पूर्व तमाम लॉजिस्टिकल तथा जुड़ाव सम्बन्धी कारणों से इस मुख्यालय को कोलकाता लाया गया था।

………………………………………………………….

3) भारत को मई 2017 के दौरान संयुक्त राष्ट्र (UN) के किस प्रतिष्ठान के अध्यक्ष के रूप में चुना गया? – यूएन-हैबिटैट (UN-Habitat)

विस्तार: मई 2017 के दौरान भारत को सर्वसम्मति से यूएन- हैबिटैट (UN-Habitat) का अध्यक्ष (President) चुन लिया गया, जोकि विश्व भर में मानव बस्तियों को बढ़ावा देने वाली संयुक्त राष्ट्र की संस्था है।

अगले दो वर्षों तक यूएन – हैबिटेट की 58-सदस्यीय गवर्निंग काउंसिल (Governing Council) की बैठकों की अध्यक्षता भारत की तरफ से आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्री एम. वैंकय्या नायडू (M. Venkaiah Naidu) करेंगे। उल्लेखनीय है कि यह संस्था सीधे संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) को अपने कार्यकलापों की जानकारी देती है।

………………………………………………………….

4) 9 मई 2017 को कौन दक्षिण कोरिया (South Korea) का नया राष्ट्रपति बन गया? – मून जे-इन (Moon Jae-in)

विस्तार: पूर्व असंतुष्ट नेता मून जे-इन (Moon Jae-in) 9 मई 2017 को दक्षिण कोरिया (South Korea) के नए राष्ट्रपति चुन लिए गए। इस पद के लिए हुए त्वरित चुनाव (snap elections) में वे सर्वाधिक 41% मत हासिल कर चुनाव मैदान में उतरे समस्त 13 उम्मीदवारों में सबसे आगे रहे। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी पर 17 प्रतिशत की भारी-भरकम बढ़त स्थापित की जोकि देश के राष्ट्रपति चुनाव में किसी उम्मीदवार की सर्वाधिक बढ़त थी।

मून जे-इन को मतगणना होने के तुरंत बाद देश के नए राष्ट्रपति की शपथ भी 9 मई 2017 को दिला दी गई।

उल्लेखनीय है कि इन चुनावों को कराने की आवश्यकता इसलिए पड़ी थी क्योंकि देश के संवैधानिक न्यायालय ने कदाचार के आरोप में राष्ट्रपति पार्क गुएन-हे (Park Geun-hye) को उनके पद से बर्खास्त कर दिया था।

………………………………………………………….

5) सर्वोच्च न्यायालय में 10 मई 2017 को शुरू की गई नई अत्याधुनिक डिज़िटल फाइलिंग प्रणाली (digital filing system) का क्या नाम है? – “इंटीग्रेटेड केस मैनेजमेण्ट इन्फॉर्मेशन सिस्टम” (ICMIS)

विस्तार: “इंटीग्रेटेड केस मैनेजमेण्ट इन्फॉर्मेशन सिस्टम” (ICMIS) उस अत्याधुनिक डिज़िटल फाइलिंग प्रणाली का नाम है जिसको प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 10 मई 2017 को सर्वोच्च न्यायालय की बेवसाइट पर अपलोड कर शुरू कर दिया। दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति जे.एस. खेहर समेत न्याय क्षेत्र की तमाम विशिष्ट हस्तियाँ मौजूद थीं।

इस प्रणाली के द्वारा याचिकाकर्ताओं को सर्वोच्च न्यायालय में केस दायर करने से सम्बन्धित खर्च की पूरी जानकारी मिलेगी तथा कोई भी इन डिज़िटल रिकॉर्ड्स के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं कर सकेगा। इसके अलावा कोई भी प्रतिवादी इस सम्बन्ध में कोई झूठी जानकारी नहीं दे सकेगा।

इस प्रणाली के अंतर्गत याचिकाकर्ता को सिर्फ एक बार याचिका को दायर करने से सम्बन्धित कागजी कार्रवाई करनी पड़ेगी। खास बात यह है कि यह प्रणाली ई-फाइलिंग प्रक्रिया से अलग है क्योंकि इसमें वकीलों को सिर्फ अपील से सम्बन्धित तथ्यों को फाइल करना पड़ता है तथा मामले से सम्बन्धित समस्त तथ्य स्वत: अपलोड हो जाते हैं।

………………………………………………………….

6) केन्द्र सरकार ने किसे देश का अगला रक्षा सचिव  (Defence Secretary) नियुक्तकरने की घोषणा 10 मई 2017 को की? – संजय मित्रा (Sanjay Mitra)

विस्तार: केन्द्र सरकार ने 9 मई 2017 को पश्चिम बंगाल कैडर के 1982 बैच के आईएसएस अधिकारी संजय मित्रा (Sanjay Mitra) को अगला रक्षा सचिव नियुक्त करने की घोषणा की। उनकी नियुक्ति दो वर्ष के लिए होगी।

वे जी. मोहन कुमार (G. Mohan Kumar) से पदभार ग्रहण करेंगे जो 24 मई 2017 को इस पद से सेवानिवृत्त हो रहे हैं। मित्रा अभी तक सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय में सचिव का कार्यभार संभाले हुए थे।

………………………………………………………….

7) भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने एसबीआई बडी (Buddy) एप्लीकेशन के प्रयोगकर्ताओं द्वारा की गई प्रत्येक एटीएम निकासी पर कितना शुल्क लगाने की घोषणा 10 मई 2017 को की? – रु. 25 प्रति निकासी

विस्तार: भारतीय स्टेट बैंक ने 10 मई 2017 को घोषणा की थी की उसके ग्राहकों को अब प्रत्येक एटीएम निकासी पर 25 रुपए का शुल्क अदा करना पड़ेगा। बैंक ने यह भी कहा कि वह रूपे (RuPay) कार्ड को छोड़कर अन्य सभी प्रकार के एटीएम कार्ड जारी करने पर भी शुल्क वसूलेगा।

एसबीआई की इस घोषणा के बाद बैंक के खाताधारकों में पैदा हुए संशय को समाप्त करते हुए बैंक ने 11 मई 2017 को स्पष्ट कर दिया कि 25 रुपए का शुल्क सिर्फ बडी एप्लीकेशन (SBI Buddy Application) के प्रयोगकर्ताओं द्वारा की गई निकासी के लिए वसूला जायेगा तथा अन्य खाताधारकों के लिए सभी शर्तें यथावत रहेंगी। मेट्रो शहरों के ग्राहकों को 8 नि:शुल्क एटीएम निकासी (5 एसबीआई एटीएम तथा 3 अन्य बैंकों के एटीएम) तथा गैर-मैट्रो शहर के खाताधारकों को 10 नि:शुल्क एटीएम निकासी (5 एसबीआई एटीएम तथा 5 अन्य बैंकों के एटीएम) की सुविधा यथावत मिलती रहेगी।

25 रुपए का यह नया शुल्क 1 जून 2017 से प्रभावी होगा।

………………………………………………………….

8) भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 8 मई 2017 को गृह-ऋण (home loan) लेने वाले नए ग्राहकों को 30 लाख रुपए तक के गृह-ऋण पर ब्याज दर में कितने आधार-अंकों (basis-points) की कटौती की घोषणा की? – 25 आधार अंक

विस्तार: किफायती आवसों (affordable housing) की मांग को बढ़ावा देने के केन्द्र सरकार के प्रयासों से कदमताल मिलाते हुए देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक – भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 30 लाख रुपए तक के नए गृह-ऋणों पर ब्याज दरों में 25 आधार-अंकों की कमी कर दी – वर्तमान 8.60% से 8.35%।

वहीं 30 लाख से 75 लाख रुपए तक के गृह-ऋण पर ब्याज दर में 10% की कटौती कर दी गई। इसके साथ SBI ने दावा किया कि उसके गृह-ऋण वर्तमान में देश के सबसे कम ब्याज दर वाले गृह-ऋण हैं।

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार द्वारा किफायती आवास योजनाओं को भरपूर बढ़ावा देने के बाद देश के बैंक इस वर्ग में मांग में आई वृद्धि का अधिकाधिक लाभ उठाने के लिए गृह-ऋण में तमाम योजनाएं प्रस्तुत कर रहे हैं। केन्द्र सरकार ने वर्ष 2022 तक प्रत्येक भारतीय को स्वयं का मकान देने की एक महात्वाकांक्षी योजना (Housing for All) को शुरू किया है। वर्ष 2022 ही भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगाँठ होगी।

………………………………………………………….

9) एस.एस. चन्द्रमौलि की सुप्र-हिट फिल्म “बाहुबली-2: द कन्क्लूज़न” (“Baahubali 2: The Conclusion”) ने भारतीय फिल्मों के इतिहास में कौन सा मुकाम अपनी रिलीज़ के मात्र 10 दिन के भीतर हासिल कर लिया? – यह 1,000 करोड़ रुपए का व्यवसाय करने वाली पहली भारतीय फिल्म हो गई

विस्तार: बॉक्सऑफिसइण्डिया.कॉम (BoxofficeIndia.com) की रिपोर्ट के अनुसार “बाहुबली-2: द कन्क्लूज़न” ने अपनी रिलीज़ के 10वें दिन ही 1,000 करोड़ रुपए के व्यवसाय को छूकर एक नया अध्याय लिख दिया है। यह भारतीय फिल्म इतिहास की सर्वाधिक आय करने वाली फिल्म हो गई है तथा इसने इस मामले में पिछले वर्ष (2016 में) आई आमिर खान की “दंगल” (“Dangal”) का 800 करोड़ रुपए का कीर्तिमान ध्वस्त कर दिया।

रिपोर्टों के अनुसार “बाहुबली-2: द कन्क्लूज़न” ने अपने 10वें दिन तक 1,047 करोड़ रुपए का व्यवसाय किया। इसके हिंदी वर्जन ने ही इसमें 508 करोड़ रुपए का योगदान दिया। उल्लेखनीय है कि यह फिल्म वर्ष 2015 में आई चन्द्रमौलि की फिल्म “बाहुबली: द बिगिनिंग” का दूसरा व अंतिम भाग है। उस फिल्म ने भी 650 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई की थी।

………………………………………………………….

http://churugurukul.com/current-affairs-07-08-may-2017