Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 09 - 12 Sep 2017

 

1) देश के किस राज्य में भविष्य की सबसे क्रांतिकारी परिवहन सुविधा मानी जा रही हाइपरलूप का एक रूट (Hyperloop) स्थापित किया जायेगा जो भारत में ऐसा पहला रूट होगा? – आन्ध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)

विस्तार: आन्ध्र प्रदेश सरकार ने 7 सितम्बर 2017 को अमेरिका के कैलीफोर्निया (California) स्थित कम्पनी हाइपरलूप ट्रांसपोर्टेशन टैक्नोलॉज़ीज़ (Hyperloop Transportation Technologies – HTT) के साथ राज्य में एक हाइपरलूप रूट स्थापित करने के लिए मैमोरेण्डम ऑफ अण्डरस्टैण्डिंग (MoU) पर हस्ताक्षर किए। यह भारत में पहला हाइपरलूप रूट होगा तथा विजयवाडा (Vijayawada) को राज्य की नई विकसित की जा रही राजधानी अमरावती (Amravati) से जोड़ेगा। हाइपरलूप से इन दोनों स्थानों के बीच का यात्रा समय वर्तमान एक घण्टे से घट कर मात्र 6 मिनट रह जायेगा।

उल्लेखनीय है कि हाइपरलूप एक अत्यंत क्रांतिकारी परिवहन विचार है जो आने वाले समय में परिवहन उद्योग को पूरी तरह से बदल सकता है। इसमें मजबूत सील्ड ट्यूब्स (sealed tubes) में यात्री अथवा सामान के पॉड्स (pods) को बहुत तेजी से बिना किसी घर्षण (friction) अथवा वायु-बाधा (air resistance) के भेजा जा सकता है।

इस महात्वाकांक्षी परियोजना के लिए निजी निवेशकों के साथ एक सरकारी-निजी भागीदारी (Public Private Partnership – PPP) वित्त-पोषण मॉडल को विकसित किया जायेगा जिसका प्रबन्धन आन्ध्र प्रदेश सरकार करेगी।

………………………………………………………………..

2) सितम्बर 2017 के दौरान प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार भारतीय संस्था वैज्ञानिक तथा औद्यौगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) से सम्बद्ध किस प्रयोगशाला ने एक ऐसी कृत्रिम पत्ती (artificial leaf) का विकास किया है जो सूर्य के प्रकाश को प्राप्त कर जल की मदद से हाइड्रोजन ईंधन का उत्पादन करने में सक्षम है? – राष्ट्रीय रसायन प्रयोगशाला (पुणे)

विस्तार: पुणे (Pune) स्थित राष्ट्रीय रसायन प्रयोगशाला (National Chemical Laboratory), जोकि वैज्ञानिक तथा औद्यौगिक अनुसंधान परिषद (Council of Scientific and Industrial Research – CSIR) के तहत संचालित होती है, के वैज्ञानिकों ने अपनी प्रयोगशाला में एक ऐसी कृत्रिम पत्ती (artificial leaf) का विकास किया है जो सूर्य के प्रकाश को ग्रहण कर जल की मदद से हाइड्रोजन ईंधन (hydrogen fuel) तैयार करने में सक्षम है। यह विकास इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इसका प्रयोग भविष्य में पर्यावरण-अनुकूल कारों की ईंधन आवश्यक्ताओं के लिए किया जा सकता है।

दरअसल वैज्ञानिकों द्वारा विकसित यह पत्ती एक अत्यंत पतला वायरलेस उपकरण है जो एक प्राकृतिक पत्ती की नकल करते हुए जल और सूर्य के प्रकाश को मिलाकर ऊर्जा का उत्पादन कर सकता है। इस नन्हें से उपकरण में लगाए गए आपस में जुड़े तमाम सेमीकण्डक्टर (semiconductor) एक प्राकृतिक पत्ती की तरह व्यवहार करने में सक्षम हैं।

जब इन सेमीकण्डक्टरों में सूर्य का प्रकाश प्रविष्ट होता है तो इसके इलेक्ट्रॉन एक दिशा में चालित होकर विद्युत करेंट का उत्पादन करते हैं। यह करेण्ट तुरंत जल को हाइड्रोजन में विभाजित (split) कर देता है। उल्लेखनीय है कि हाइड्रोजन सबसे स्वच्छ ऊर्जा स्रोत माना जाता है क्योंकि इससे जल का ही उत्सर्जन होता है। 23 वर्ग सेण्टीमीटर फैलाव वाली ऐसी कृत्रिम पत्ती एक घण्टे में 6 लीटर हाइड्रोजन ईंधन उत्पादित कर सकती है।

राष्ट्रीय रसायन प्रयोगशाला (NCL) की यह उपलब्धि ‘नेचर’ (‘Nature’) पत्रिका के ऑन-लाइन जर्नल ‘Scientific Reports’ में सितम्बर 2017 के दौरान प्रकाशित की गई है।

………………………………………………………………..

3) भारत में पूँजी बाजार की नियामक संस्था सेबी (SEBI) ने 7 सितम्बर 2017 को किस उपक्रम तथा उसके निदेशकों पर 2,423 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया जोकि सेबी तथा डिफॉल्टरों पर लगाया गया अब तक का सबसे बड़ा जुर्माना है? – पीएसीएल लिमिटेड (PACL Limited)

विस्तार: तमाम योजनाओं के द्वारा जनता से अवैध तरीके से 49,000 करोड़ रुपए एकत्रित करने के आरोप में भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (Securities and Exchange Board of India – SEBI) ने 7 सितम्बर 2017 को पीएसीएल लिमिटेड (PACL Limited) तथा उसके चार निदेशकों (4 directors) पर 2,423 करोड़ रुपए का जुर्माना लगा दिया।

उल्लेखनीय है कि SEBI ने लगभग तीन साल पूर्व पीएसीएल लिमिटेड को जनता से अवैध रूप से एकत्रित 49,100 करोड़ रुपए उन्हें वापिस करने का निर्देश दिया था। यह पैसा तमाम रियल एस्टेट तथा इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं में निवेश करने के नाम पर एकत्रित किया गया था लेकिन वास्तव में कम्पनी ने इनमें लगभग नगण्य निवेश किया। अब SEBI ने पीएसीएल लिमिटेड द्वारा जनता को पैसा वापस न करने के आरोप में Prevention of Fraudulent and Unfair Trade Practices Regulations (PFUTPR) के तहत यह भारी-भरकम जुर्माना लगाया है। यह सेबी द्वारा डिफॉल्टरों पर लगाया गया अब तक का सबसे बड़ा जुर्माना है।

………………………………………………………………..

4) भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय की सुविख्यात उजाला (UJALA) योजना को 7 सितम्बर 2017 को किस विदेशी राष्ट्र में शुरू किया गया? – मलेशिया (Malaysia)

विस्तार: ऊर्जा संरक्षण के लिए सस्ते एलईडी बल्बों को जन-जन तक पहुँचाने की बेहद सफल योजना उजाला (UJALA – Unnat Jyoti by Affordable Lighting for All) भारत सरकार की एक बड़ी उपलब्धि रही है। इस योजना की खास बात यह है कि इसमें बिना किसी सब्सिडी (zero subsidy) सहयोग के एलईडी बल्ब सस्ते दरों में उपलब्ध कराने का मॉडल तैयार किया गया है। इसका परिचालन भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के अधीन आने वाले उपक्रम Energy Efficiency Services Limited (EESL) द्वारा किया जाता है। यह सस्ते एलईडी बल्ब के वितरण की विश्व की सबसे बड़ी योजना है।

7 सितम्बर 2017 को इस योजना को मलेशिया (Malaysia) के मेलका (Melaka) प्रांत में भी शुरू किया गया। योजना के तहत इस मलेशियाई प्रांत के सभी नागरिकों को उच्च-गुणवत्ता वाले 9 वॉट खपत वाले 10 एलईडी बल्ब मात्र आरएम 10 (RM 10) के स्थानीय मूल्य पर उपलब्ध कराए जायेंगे। यह मूल्य बाजार भाव से आधा है। इस योजना को जहाँ भारत सरकार के EESL द्वारा क्रियान्वित किया जायेगा वहीं इसके लॉजिस्टिकल सपोर्ट के लिए Green Growth Asia नामक गैर-लाभकारी संस्था (not for profit organization) अपना सहयोग देगी।

उल्लेखनीय है कि UJALA योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 5 जनवरी 2015 को शुरू कर भारत की ऊर्जा खपत को अद्वितीय तरीके से कम करने की पहल शुरू की थी। आज इस कार्यक्रम का अनुसरण दुनिया के कई देश करना चाह रहे हैं।

………………………………………………………………..

5) विशाखापट्टनम के पास 7 सितम्बर 2017 से शुरू हुआ “स्लाइनेक्स 2017” (“SLINEX 2017”) नामक नौसैनिक अभ्यास भारत तथा किस अन्य देश के बीच किया जा रहा है? – श्रीलंका (Sri Lanka)

विस्तार: स्लाइनेक्स (SLINEX) का अर्थ है – Sri Lanka India Naval Exercise तथा यह प्रत्येक दो वर्षों में भारत तथा श्रीलंका की नौसेनाओं के बीच आयोजित किया जाने वाला नौसैनिक अभ्यास है। स्लाइनेक्स का आयोजन पहली बार वर्ष 2005 में किया गया था।

“स्लाइनेक्स 2017” (“SLINEX 2017”) अभ्यास के इस क्रम का नवीनतम संस्करण है। इसका आयोजन आन्ध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम (Visakhapatnam) के पास 7 सितम्बर 2017 से शुरू हुआ। इस अभ्यास के तहत नौसेना बेड़ों के रखरखाव, नौसैनिकों की कार्यपद्धति, संचार सहयोग, समुद्र में आपूर्तियों की व्यवस्था करना, संचालन तथा हेलीकॉप्टर संचालन पर जोर दिया जायेगा। यह आयोजन 14 सितम्बर 2017 को समाप्त होगा।

………………………………………………………………..

 

6) भारतीय सशस्त्र सेनाओं में लैंगिक बाधाओं को तोड़ने की दिशा में एक अहम कदम भारतीय सेना (Indian Army) ने 8 सितम्बर 2017 को उठाया जब उसने 800 महिलाओं को सेना के एक ऐसे बल में शामिल करने को मंजूरी दी जिसमें अभी तक महिलाओं को शामिल नहीं किया जाता था। यह बल कौन सा है? – मिलिट्री पुलिस (Military Police)

विस्तार: भारतीय सेना ने महिलाओं को मिलिट्री पुलिस (Military Police) में शामिल करने का एहम निर्णय 8 सितम्बर 2017 को लिया। इस बल में प्रारंभ में कुल 800 महिला जवानों को शामिल किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि वर्ष 1992 से भारतीय सेना में महिलाओं को शामिल तो किया गया है लेकिन उनको मुख्यत: प्रशासनिक तथा लॉजिस्टिकल कार्यों में ही काम करने का मौका दिया गया है। इसके अलावा सेना की मेडिकल सेवाओं में महिलाएं काफी समय से भूमिका निभा रही हैं।

अब मिलिट्री पुलिस में शामिल करने के निर्णय से महिलाओं को लड़ाकू भूमिकाओं में शामिल किए जाने की संभावनाएं भी बढ़ गई हैं। सेना ने यह निर्णय ऐसे समय में लिया है जब एक ही दिन पूर्व 7 सितम्बर 2017 को निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने देश की पहली पूर्ण-कालिक महिला रक्षा मंत्री का कार्यभार ग्रहण किया।

………………………………………………………………………

7) पाकिस्तान का निजी क्षेत्र का वह सबसे बड़ा बैंक (Pakistan’s largest private bank) कौन सा है आतंकवादी संगठनों को वित्त पोषण के आरोप में जिसके न्यूयॉर्क (New York) स्थित कार्यालय को बंद करने का आदेश अमेरिका के बैंकिंग क्षेत्र की नियामक संस्था ने 7 सितम्बर 2017 को दिया? – हबीब बैंक लिमिटेड (Habib Bank Limited)

विस्तार: हबीब बैंक लिमिटेड (Habib Bank Limited) पाकिस्तान में निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक है। 1978 से अमेरिका में अपना परिचालन कर रहे इस बैंक के न्यूयॉर्क स्थित कार्यालय को बंद करने का आदेश अमेरिका के डिपार्टमेण्ट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज़ (DFS) ने 7 सितम्बर 2017 को जारी किया। इसके अलावा बैंक पर 22.5 करोड़ डॉलर ($225 million) का अर्थदण्ड भी लगाया गया।

डिपार्टमेण्ट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज़ अमेरिका में बैंकिंग क्षेत्र की नियामक संस्था है तथा उसने हबीब बैंक पर यह कड़ा आदेश आतंकवादी संगठनों को वित्त-पोषण करने तथा काले धन को सफेद करने के आरोप में जारी किया। बैंक को इस सम्बन्ध में कई बार आगाह किया गया था लेकिन उसने कोई सुधारात्मक उपाय नहीं उठाया।

नियामकों के अनुसार हबीब बैंक ने सऊदी अरब (Saudi Arabia) के निजी बैंक अल राझी बैंक (Al Rajhi Bank) के साथ अरबों डॉलर का लेन-देन किया था तथा इस बैंक के कथित तौर पर इस्लामिक आतंकी संगठन अल-कायदा (al-Qaeda) से सम्बन्ध हैं। यह जानकारी हबीब बैंक के अधिकारियों से वर्ष 2006 में साझा किए जाने के बावजूद बैंक ने इसे रोकने का कोई प्रयास नहीं किया।

………………………………………………………………………

8) हाल ही में प्रकाशित एक अकादमिक शोध (academic research) में निकाले गए निष्कर्ष के अनुसार तटीय क्षरण (coastal erosion) के चलते लक्षद्वीप द्वीपसमूह (Lakshadweep Archipelago) के कौन से छोटे से निर्जन द्वीप का अस्तित्व पूरी तरह से समाप्त हो चुका है? – पराली प्रथम (Parali I)

विस्तार: लक्षद्वीप में ही रहने वाले आर.एम. हिदायतुल्लाह (R.M. Hidayathulla) के हाल में प्रकाशित पीएचडी शोध में यह निष्कर्ष निकाला गया है कि द्वीपसमूह के पराली प्रथम (Parali I) द्वीप का अस्तित्व तटीय क्षरण के चलते पूरी तरह से समाप्त हो गया है। इस निर्जन द्वीप पर कोई नहीं रहता था तथा यह बंगाराम एटॉल (Bangaram atoll) का हिस्सा है।

“Studies on Coastal Erosion in Selected Uninhabited Islands of Lakshadweep Archipelago with Special Reference to Biodiversity Conservation” शीर्षक वाले इस शोध में उल्लेख किया गया है कि पराली प्रथम द्वीप का विस्तार वर्ष 1968 तक 0.032 वर्ग किलोमीटर था। लेकिन इस क्षेत्र में हो रहे तीव्र तटीय क्षरण के कारण यह द्वीप पूरी तरह से क्षरित होकर समुद्र में डूब गया है। शोध में यह भी कहा गया है कि लक्षद्वीप के चार और द्वीप समाप्त होने की कगार पर हैं।

आर.एम. हिदायतुल्लाह के उक्त शोध को जुलाई 2017 में ही केरल के कालीकट विश्वविद्यालय ने पीएचडी की उपाधि प्रदान की है। शोध के गाइड सी.सी. हीरालाल ने जानकारी दी कि पराली प्रथम के धीरे-धीरे डूबने को उन्होंने पहली बार वर्ष 2011 में देखा था जब वे बंगाराम एटॉल के दौरे पर गए थे।

………………………………………………………………………

9) केन्द्रीय खेल मंत्रालय ने 8 सितम्बर 2017 को किसे भारतीय राष्ट्रीय पुरुष हॉकी टीम (Indian national men’s hockey team) का नया मुख्य कोच (Chief Coach) नियुक्त कर दिया? – जोएर्ड मरीने (Sjoerd Marijne)

विस्तार: एक आश्चर्यजनक फैसले में नीदरलैण्ड्स के जोएर्ड मरीने (Sjoerd Marijne), जोकि महिला हॉकी टीम के मुख्य कोच हैं, को खेल मंत्रालय ने 8 सितम्बर 2017 को पुरुष राष्ट्रीय टीम का अगला मुख्य कोच (Chief Coach) नियुक्त कर दिया। उनकी इस पद पर नियुक्ति को इसलिए आश्चर्जनक माना जा रहा है क्योंकि उन्हें पुरुष सीनियर टीम को कोचिंग प्रदान करने का कोई पूर्व अनुभव नहीं है।

वे अपने देश के ही रोलेंट ऑल्टमैन्स (Roelant Oltmans) का स्थान लेंगे, जिन्हें पिछले कुछ समय से भारतीय पुरुष टीम के बेहद साधारण प्रदर्शन के चलते 2 सितम्बर 2017 को मुख्य कोच पद से हटा दिया गया था।

वहीं जूनियर हॉकी विश्व कप जीतने वाली टीम के कोच हरेन्द्र सिंह (Harendra Singh) को महिला हॉकी टीम का हाई परफॉर्मेंस विशेषज्ञ कोच (High Performance Specialist coach) नियुक्त किया गया। यह दोनों नियुक्तियाँ वर्ष 2020 के टोक्यो ऑलम्पिक्स तक के लिए की गई हैं। इन नियुक्तियों की घोषणा हाल ही में केन्द्रीय खेल मंत्री बनाए गए राज्यवर्द्धन सिंह राठौर ने 8 सितम्बर 2017 को अपने आधिकारिक ट्विटर हैण्डल के माध्यम से की।

उल्लेखनीय है कि हॉकी इण्डिया (HI) ने भारतीय पुरुष टीम के मुख्य कोच पद के लिए तीन दिन पूर्व ही एक विज्ञापन अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित किया था तथा इसमें इस पद के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 सितम्बर 2017 रखी गई थी। लेकिन इस विज्ञापन को 7 सितम्बर 2017 को वेबसाइट से हटा दिया गया था।

………………………………………………………………………

10) 7 सितम्बर 2017 को किसे प्रेस ट्रस्ट ऑफ इण्डिया (PTI) का नया अध्यक्ष (Chairman) चुना गया? – विवेक गोयनका (Viveck Goenka)

विस्तार: एक्सप्रेस समूह (Express Group) के अध्यक्ष तथा प्रबन्ध निदेशक विवेक गोयनका Viveck Goenka) को भारत की प्रमुख समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इण्डिया (Press Trust of India – PTI) का नया अध्यक्ष (Chairman) चुना गया है। वहीं अंग्रेजी समाचार-पत्र “द हिन्दू” के पूर्व सम्पादक एन. रवि (N. Ravi) को संस्था का अगला उपाध्यक्ष (Vice-Chairman) चुना गया। 7 सितम्बर 2017 को पीटीआई की 69वीं वार्षिक आम बैठक (AGM) में यह दोनों निर्वाचन सर्वसम्मति से किए गए।

विवेक गोयनका, जोकि अभी तक पीटीआई के उपाध्यक्ष थे, अध्यक्ष पद पर अब तक आसीन रियाद मैथ्यू (Riyad Mathew) का स्थान लेंगे जो मलयाला मनोरमा प्रकाशन समूह से जुड़े हैं। उल्लेखनीय है कि विवेक 90 के दशक के मध्य से एक्सप्रेस समूह की कमान थामे हुए हैं। इस समूह के कुछ प्रमुख प्रकाशन हैं – “द इण्डियन एक्सप्रेस” (अंग्रेजी समाचार-पत्र), “द फाइनेंशियल एक्सप्रेस” (अंग्रेजी वित्तीय समाचार-पत्र), “लोकसत्ता” (मराठी समाचार-पत्र) और “जनसत्ता” (हिंदी समाचार-पत्र)।

………………………………………………………………………

http://churugurukul.com/?q=current-affairs-07-08-sep-2017