Call us now: (+91) 94135 68044 | churugurukul@gmail.com

Current Affairs 13 -16 May 2017

1) मुक्त व्यापार (Free Trade) के मसले पर स्वयं को एक नए वैश्विक नेता के रूप में प्रस्तुत करते हुए चीन (China) ने 14 मई 2017 को दो-दिवसीय “बेल्ट एण्ड रोड फोरम” (“Belt and Road Forum”) नामक सम्मेलन का आयोजन राजधानी बीजिंग (Beijing) में शुरू किया। भारत ने स्थानीय भावनाओं को स्थान देने का मुद्दा उठा कर इस सम्मेलन से अपने आपको अलग रखा। भारत का वह एकमात्र पड़ोसी देश कौन सा है जिसने भी इस सम्मेलन में हिस्सेदारी नहीं की? – भूटान (Bhutan)

विस्तार: भारत ने चीन द्वारा आयोजित महात्वाकांक्षी “बेल्ट एण्ड रोड फोरम” से अपने आपको इसलिए अलग रखा है क्योंकि वह पाकिस्तान-अधिकृत कश्मीर (PoK) से होकर गुजरने वाली चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (China- Pakistan Economic Corridor – CPEC) परियोजना को अपनी संप्रभुता में चीन की दखलांदाजी मानता है।

भूटान (Bhutan) ने भी चीन के इस सम्मेलन में भागीदारी नहीं की। लेकिन भारत व भूटान को छोड़कर इस क्षेत्र के सभी देशों ने इसमें भागीदारी करके सम्मेलन को जहाँ काफी सफल बनाया वहीं चीन को मुक्त व्यापार व्यवस्था के अगुवा देश के रूप में भी प्रतिस्थापित कर दिया। सम्मेलन में लगभग 50 देशों ने भागीदारी की जबकि 29 राष्ट्राध्यक्षों ने उद्घाटन सत्र में हिस्सा लिया।

इस सम्मेलन के आयोजन का मुख्य उद्देश्य चीन द्वारा क्रियान्वित की जा रही अपनी बेहद महात्वाकांक्षी परियोजना “वन बेल्ट – वन रोड” (One Belt – One Road – OBOR) को बढ़ावा देना है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2013 में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) द्वारा तैयार इस परियोजना में एशिया, अफ्रीका, मध्य-पूर्व और यूरोप के सड़क जुड़ाव में अरबों डॉलर का निवेश कर इसे विश्व व्यापार का सबसे शक्तिशाली अवयव बनाना है।

…………………………………………………………………

2) केन्द्रीय वित्त मंत्रालय ने मई 2017 के दौरान औद्यौगिक उत्पादन सूचकांक (Index of Industrial Production – IIP) एवं थोक मूल्य सूचकांक (Wholesale Price Index – WPI) की नई श्रृंखला जारी कर दी। आठ वर्ष बाद लाई गई इन नई सूचकांक श्रृंखलाओं में आधार-वर्ष (Base Year) क्या रखा गया है? – वर्ष 2011-12

विस्तार: औद्यौगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) एवं थोक मूल्य सूचकांक (WPI) की नई श्रृंखलाओं में आधार वर्ष (Base Year) को 2004-05 के स्थान पर वर्ष 2011-12 चयनित किया गया है।

औद्यौगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) की नई श्रृंखला में पुरानी श्रृंखला के 620 के मुकाबले कुल 809 वस्तुओं को स्थान दिया गया है। जहाँ स्टेरॉयड, सीमेण्ट क्लिंकर्स, प्रीफेब्रीकेटेड कंक्रीट ब्लॉक तथा रिफाइण्ड पॉम ऑयल जैसी 149 नई वस्तुओं को स्थान दिया गया है वहीं कैल्क्युलेटर्स, कलर टीवी पिक्चर ट्यूब और गुटखा जैसी 124 वस्तुओं को श्रृंखला से बाहर किया गया है।

वहीं थोक मूल्य सूचकांक (WPI) की नई श्रृंखला में वर्तमान 676 वस्तुओं के मुकाबले कुल 697 वस्तुओं को स्थान दिया गया है। 199 नई वस्तुओं को जोड़ा गया है जबकि 146 पुरानी वस्तुओं को बाहर किया गया है।

नई श्रृंखला के आधार पर की गई गणना के अनुसार मार्च 2017 के दौरान औद्यौगिक उत्पादन सूचकांक फरवरी 2017 के 1.9% के मुकाबले बढ़कर 2.7% हो गया। वहीं अप्रैल 2017 के दौरान थोक मूल्य सूचकांक 3.85% रहा जोकि पिछले चार माह का न्यूनतम स्तर था।

उल्लेखनीय है कि औद्यौगिक उत्पादन सूचकांक एवं थोक मूल्य सूचकांक की नई श्रृंखलाओं के चलते देश के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में भी बदलाव अपेक्षित है।

…………………………………………………………………

3) भारत समेत दुनिया भर के तमाम देशों तथा कम्पनियों की कम्प्यूटर प्रणालियों पर एक भारी-भरकम साइबर हमला (cyber attack) 12 मई 2017 को हुआ जिसने लगभग 100 देशों के लाखों कम्प्यूटरों को अपनी चपेट में लिया। इस रैन्समवेयर-आधारित साइबर हमले का नाम क्या है जिसने 28 विभिन्न भाषाओं में बिटक्वॉइन में फिरौती (ransom) की मांग अपनी चपेट में आए कम्प्यूटर मालिकों ने की? – “वान्नाक्राई” (‘WannaCry’)

विस्तार: “वान्नाक्राई” (‘WannaCry’) नामक रैन्समवेयर (Ransomware) के विश्वव्यापी साइबर हमले 12 मई 2017 से शुरू हुए जबकि इन प्रभाव अगले कई दिनों तक दिखने की संभावना व्यक्त की गई है। इस हमले को काफी व्यापक बताया गया तथा इसकी चपेट में मुख्यत: माइक्रोसॉफ्ट विण्डोज़ आधारित कम्प्यूटर आए।

इस हमले से ब्रिटिश स्वास्थ्य प्रणाली (Britain’s health system) तथा वैश्विक कूरियर व कार्गों सेवा कम्पनी फेडएक्स (FedEx) की सेवाएं काफी प्रभावित हुईं। प्रारंभिक सूचनाओं के आधार पर ब्रिटेन में इस साइबर हमले का काफी प्रभाव दिखा तथा स्वास्थ्य प्रणाली प्रभावित होने के कारण तमाम अस्पतालों व क्लिनिकों में आए मरीजों को वापस भेजना पड़ा। उल्लेखनीय है कि रैन्समवेयर एक ऐसा प्रभावित सॉफ्टवेयर होता है जो कम्प्यूटरों को अपनी चपेट में लेने के बाद कम्प्यूटर के प्रयोगकर्ताओं को डेटा इस्तेमाल करने के एवज में फिरौती की मांग करता है। यह बिना-लाइसेंस वाले अथवा पुराने सॉफ्टवेयर के माध्यम से तेजी से फैलता है।

इस साइबर हमले में अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (US National Security Agency – NSA) द्वारा तैयार किए गए “एटर्नलब्ल्यू” (‘EternalBlue’) नामक माइक्रोसॉफ्ट विण्डोज़ आधारित एक टूल का इस्तेमाल हैकर्स द्वारा किए जाने की संभावना व्यक्त की गई है।

…………………………………………………………………

4) किस देश ने ज़ीका (Zika) वाइरस के चलते लगाए गए सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल को 18 माह की अवधि के बाद मई 2017 के दौरान समाप्त करने की घोषणा कर दी? – ब्राज़ील (Brazil)

विस्तार: पूरी दुनिया में ज़ीका वाइरस (Zika virus) का कहर फैलाने के 18 माह बाद ब्राज़ील (Brazil) में 11 मई 2017 को इस वाइरस के चलते लगाए गए सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल (public health emergency) को वापस ले लिया गया।

एडेस एजिप्टी (Aedes aegypti ) नामक मच्छर के काटने से फैलने वाले ज़ीका को वर्ष 2015 तक बड़ी महामारी नहीं माना जाता था। लेकिन जब 2015 में यह सिद्ध हो गया कि इसके चलते नवजात बच्चों में गंभीर परिणाम सामने आ सकते हैं तो इसे ब्राज़ील में आपातकाल घोषित कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि ज़ीका के कारण ही माइक्रोसिफेली (Microcephaly) नामक विकार उत्पन्न होता है जिसके कारण नवजात बच्चों के सिर का आकार सामान्य के मुकाबले काफी छोटा होता है।

ब्राज़ील में ज़ीका को लेकर आपातकाल उस समय लगाया गया था यह देश 2016 के ऑलम्पिक खेलों की मेजबानी की अंतिम चरण की तैयारी कर रहा था। इससे मुकाबला करने के लिए देश में तमाम अभियान चलाकर ज़ीका के मामलों को काफी कम किया गया।

…………………………………………………………………

5) किस टीम ने वर्ष 2016-17 का इंग्लिश प्रीमियर लीग (English Premier League – EPL) जीता? – चेलसी (Chelsea)

विस्तार: चेलसी (Chelsea) ने 13 मई 2017 को अपने 36वें लीग मैच में वेस्ट ब्रोमविच (West Bromwich) की टीम को 1-0 से हराकर वर्ष 2016-17 का इंग्लिश प्रीमियर लीग (EPL) का खिताब जीतना सुनिश्चित कर लिया। यह चेलसी का छठवाँ ईपीएल खिताब है। हालांकि EPL आधिकारिक रूप से 21 मई 2017 को समाप्त होगी लेकिन चेलसी ने इतनी बढ़त हासिल कर ली है कि खिताब अब उसके हाथ में आ गया है।

उल्लेखनीय है कि इंग्लिश प्रीमियर लीग ब्रिटेन की प्रमुख प्रोफेशनल फुटबॉल क्लबों का सर्वप्रमुख लीग खिताब है तथा इसकी शुरूआत वर्ष 1992 में हुई थी।

…………………………………………………………………

 

http://churugurukul.com/current-affairs-09-12-may-2017