Call us now: (+91) 94135 68044 | churugurukul@gmail.com

Current Affairs 17 - 18 February 2017

1) भारत की अंतरिक्ष एजेंसी भारतीय अंतरिक्ष एवं अनुसंधान संगठन (इसरो – ISRO) ने 15 फरवरी 2017 को एक उल्लेखनीय सफलता हासिल की जब उसने एक ही प्रक्षेपण से 104 उपग्रहों (104 satellites) को अंतरिक्ष की कक्षा में प्रक्षेपित तथा स्थापित कर दिया। यह एक साथ इतने उपग्रहों के प्रक्षेपण का विश्व-कीर्तिमान था। इस प्रक्षेपण में भेजे गए सबसे अधिक उपग्रह किस देश के थे? – अमेरिका (United States)

विस्तार: भारतीय अंतरिक्ष एवं अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation – ISRO) ने अपने अंतरिक्ष यान पीएसएलवी-37 (PSLV-37) के द्वारा एक बार में 104 उपग्रह प्रक्षेपित करने का विश्व कीर्तिमान 15 फरवरी 2017 को कायम किया। इस ऐतिहासिक प्रक्षेपण से ISRO ने रूस द्वारा वर्ष 2014 में एक साथ 37 उपग्रहों को प्रक्षेपित करने के कीर्तिमान को लम्बे अंतर से ध्वस्त कर दिया।

 हालांकि इस प्रक्षेपण द्वारा भेजा गया सर्वप्रमुख उपग्रह पृथ्वी पर निगरानी रखने वाला भारत का कार्टोसैट श्रृंखला का दूसरा उपग्रह (Cartosat-2 series) था। इसके अलावा भेजे गए शेष 103 उपग्रह अपेक्षाकृत छोटे तथा हल्के से लेकर बेहद हल्के थे। एक खास बात यह रही कि इस प्रक्षेपण से भेजे गए सर्वाधिक 96 उपग्रह अमेरिका (United States) के थे। अन्य प्रक्षेपित उपग्रह भारत के अलावा इज़राइल, कज़ाकिस्तान, नीदरलैण्ड्स, स्विट्ज़रलैण्ड और संयुक्त अरब अमीरात के थे। यह ISRO के PSLV (Polar Stationary Launch Vehicle) यान श्रृंखला का 39वां प्रक्षेपण था तथा इसके लिए 320 टन भार और 44.4 मीटर लम्बाई वाले एक्सएल प्रकार के यान (XL variant) का इस्तेमाल किया गया।

 कार्टोसैट-2 श्रृंखला का कुल भार जहाँ 714 किलो था वहीं सभी 104 उपग्रहों का कुल भार 1,378 किलो था।

……………………………………………………………………

2) एक वैश्विक आकार के बैंक की स्थापना के उद्देश्य से केन्द्रीय कैबिनेट ने 15 फरवरी 2017 को देश के सबसे बड़े बैंक – भारतीय स्टेट बैंक (SBI) तथा उसके पाँच सहयोगी बैंकों (5 associate banks) का विलय करने के प्रस्ताव को अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी। एसबीआई के ये 5 पाँच सहयोगी बैंक कौन से हैं? – स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एण्ड जयपुर (SBBJ), स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM), स्टेट बैंक ऑफ ट्रावणकोर (SBT), स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP) और स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)

विस्तार: उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व केन्द्रीय कैबिनेट ने भारतीय स्टेट बैंक तथा उसके इन 5 सहयोगी बैंकों के विलय के प्रस्ताव को अपनी सैद्धांतिक मंजूरी प्रदान कर दी थी। इसके बाद इस प्रस्ताव को प्रत्येक बैंक के निदेशक मण्डल में भेजा गया था तथा यहाँ से स्वीकृति हासिल होने के बाद 15 फरवरी 2017 को केन्द्रीय कैबिनेट ने इसे अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी।

 इन 5 सहयोगी बैंकों के विलय के बाद भारतीय स्टेट बैंक एक वैश्विक आकार का बैंक हो जायेगा तथा इसकी कुल परिसम्पत्तियाँ 37 लाख करोड़ रुपए (555 अरब डॉलर) हो जायेंगी। वहीं इसकी कुल बैंक शाखाएं 22,500 तथा लगभग 58,000 एटीएम (ATM) नेटवर्क होगा। इसके ग्राहकों की कुल संख्या 50 करोड़ होगी।

 इस महा-विलय से बैंक के परिचालन खर्चों में पहले वर्ष से लगभग 1,000 करोड़ रुपए की बचत होने की संभावना है क्योंकि कार्यकुशलता में वृद्धि होगी और पूँजी का लागत खर्च कम होगा। वहीं बैंक के वर्तमान ग्राहकों को अधिक शाखाओं के नेटवर्क का लाभ मिलेगा।

 उल्लेखनीय है कि भारतीय स्टेट बैंक की कुल शाखाएं लगभग 16,500 हैं जबकि कुल 36 देशों में इसके 191 विदेशी कार्यालय भी हैं। एसबीआई में वर्ष 2008 में स्टेट बैंक ऑफ सौराष्ट्र (State Bank of Saurashtra) का विलय किया गया था जबकि इसके दो वर्ष बाद 210 में स्टेट बैंक ऑफ इंदौर (State Bank of Indore) का इसमें विलय कर दिया गया था।

……………………………………………………………………

3) फरवरी 2017 के दौरान लोकसभा में एक सदस्य ने एक ऐसे निजी विधेयक (private bill) को चर्चा के लिए रखा है जिसके तहत देश में होने वाली शादियों में भारी-भरकम खर्च करने की प्रवृति पर रोक लगाया जाना प्रस्तावित है। इसमें शादी में बुलाए जाने वाले मेहमानों की संख्या तथा परोसे जाने वाले व्यंजनों की संख्या सीमित करने के साथ ही 5 लाख रुपए से अधिक खर्च करने वालों को होने वाले खर्च का कुछ प्रतिशत गरीब लड़कियों की शादी में दान में देने का प्रावधान है। यह विधेयक लाने वाली संसद सदस्य का क्या नाम है? – सुश्री रंजीत रंजन (Ranjeet Ranjan)

विस्तार: बिहार से कांग्रेस की सांसद सुश्री रंजीत रंजन (सांसद पप्पू यादव की पत्नी) ने फरवरी 2017 के दौरान लोकसभा में विवाह (अनिवार्य पंजीकरण एवं अनावश्यक खर्च निषेध) विधेयक, 2016 (Marriages (Compulsory Registration and Prevention of Wasteful Expenditure) Bill, 2016) नामक एक विधेयक संसद के आगामी सत्र के दौरान चर्चा के लिए रखा।

 इस प्रस्तावित विधेयक का मुख्य उद्देश्य भारत में होने वाली शादियों में अन्धाधुंध पैसा खर्च करने की प्रवृत्ति पर रोक लगाना है। इस विधेयक को एक निजी विधेयक के रूप में प्रस्तुत करने वाली रंजीत रंजन का मानना है कि पैसे वाले लोगों द्वारा महंगी शादियाँ करने का असर यह हो रहा है कि गरीब लोग भी इसकी देखादेखी कम साधनों के बावजूद शादियों पर फिजूल खर्च करने की प्रवृत्ति दर्शा रहे हैं।

 इस विधेयक में रखा गया एक अहम प्रस्ताव यह है कि यदि कोई शादी में 5 लाख रुपए से अधिक खर्च करता है तो इसकी जानकारी अपेक्षित सरकारी विभागों को उक्त परिवार द्वारा उपलब्ध करानी चाहिए तथा खर्च किए गए धन का 10% गरीब परिवार की लड़कियों की शादी के बनाए गए एक सरकारी कोष में जमा करानी चाहिए।

……………………………………………………………………

4) कौन सी नई एयरलाइन सेवा कम्पनी 15 फरवरी 2017 से अपने वाणिज्यिक परिचालन की शुरूआत कर भारत के घरेलू बाजार में एयरलाइन सेवा प्रदान करने वाली 12वीं कम्पनी बन गई? – “ज़ूम एयर” (‘Zoom Air’)

विस्तार: नई एयरलाइन सेवा कम्पनी “ज़ूम एयर” (‘Zoom Air’) ने 15 फरवरी 2017 को नई दिल्ली (New Delhi) से कोलकाता के रास्ते दुर्गापुर (Durgapur) उड़ान शुरू कर अपने वाणिज्यिक परिचालन (commercial operations) को औपचारिक रूप से शुरू कर दिया। इसी के साथ यह देश की 12वीं घरेलू एयरलाइन कम्पनी हो गई।

 उल्लेखनीय है कि गुड़गाँव की ज़ेक्सस एयर सर्विसेज़ (Zexus Air Services) द्वारा प्रमोट ज़ूम एयर ने अपनी पहली उड़ान इसी मार्ग पर 12 फरवरी 2017 को शुरू की थी। माना जा रहा है कि इस नई एयरलाइन सेवा के शुरू होने से पिछले दो वर्षों के दौरान लगभग 20% दर से वृद्धि दर्ज कर रहे देश के घरेलू एयरलाइन बाजार में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी।

 ज़ूम एयर के अनुसार वह जल्द ही कुछ अन्य शहरों जैसे अमृतसर, सूरत और भावनगर को दिल्ली से जोड़ेगी। अपने संचालन के पहले चरण के लिए इस एयरलाइन ने तीन CRJ 200LR विमानों को वेट-लीज़ (wet-lease) पर लिया है।

 उल्लेखनीय है कि देश में घरेलू एयरलाइन सेवाएं प्रदान करने वाली अन्य 11 कम्पनियाँ हैं – एयर इण्डिया, जेट एयरवेज़, विस्तारा, इण्डिगो, स्पाइसजेट, गोएयर, एयरएशिया इण्डिया, एयर कोस्टा, ट्रूजेट, एलायंस एयर और एयर कार्निवाल।

……………………………………………………………………

5) स्वदेशी तकनीक से निर्मित भारत की पहली एयरबॉर्न अर्ली वार्निंग एण्ड कंट्रोल प्रणाली, जिसे 14 फरवरी 2017 को भारतीय वायु सेना (IAF) में शामिल किया गया, को क्या नाम दिया गया है? – “नेत्र” (‘Netra’)

विस्तार: “नेत्र” (‘Netra’) स्वदेशी तकनीक से निर्मित भारत की पहली एयरबॉर्न अर्ली वार्निंग एण्ड कंट्रोल प्रणाली (Airborne Early Warning & Control (AEW&C) System) को दिया गया नाम है। इस प्रणाली को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने विकसित किया है तथा इसे 14 फरवरी 2017 को बेंगलूरू में शुरू हुए “एयरो इण्डिया” (‘Aero India’) शो के दौरान भारतीय वायुसेना को सौंप दिया गया। इस प्रणाली में मुख्यत: तमाम कम्प्यूटर लगे हैं जिसे किसी वायुयान पर लगाए जाने के बाद यह प्रणाली अपने आसपास स्थित आकाश में दुश्मन द्वारा प्रक्षेपित मिसाइलों के सिग्नल पकड़ कर उनके बारे में शीघ्र चेतावनी प्रसारित कर सकती है।

 उल्लेखनीय है कि ऐसी चेतावनी प्रणाली विकसित करने का सुझाव सर्वप्रथम 80 के दशक में देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) द्वारा दिया गया था तथा इसी के बाद इस दिशा में प्रारंभिक काम शुरू किया गया था।

……………………………………………………………………

6) भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने 16 फरवरी 2017 को जारी अधिसूचना में घोषणा की कि वह बैंकों को डेबिट कार्डों से भारत सरकार को किए गए कर तथा गैर-कर भुगतानों पर देय मर्चेन्ट डिस्काउण्ट रेट (MDR) की क्षतिपूर्ति (reimbursement) करेगा। क्षतिपूर्ति की तिथि कब से प्रभावी होगी? – 1 जनवरी 2017 से

विस्तार: आरबीआई की क्षतिपूर्ति सम्बन्धी यह अधिसूचना केन्द्र सरकार की दिसम्बर 2016 में की गई उस घोषणा के अनुरूप है जिसमें कहा गया था कि देश के नागरिकों को डिज़िटल व नकद-रहित भुगतान करने को प्रेरित करने के लिए डेबिट कार्डों से होने वाले लेन-देन पर वसूला जाने वाले मर्चेन्ट डिस्काउण्ट रेट (merchant discount rate – MDR) की क्षतिपूर्ति वह बैंकों को करेगा।

 उल्लेखनीय है कि 500 व 1000 रुपए के पुराने नोटों को विमुद्रीकरण के बाद केन्द्र सरकार ने बैंकों को MDR को 31 दिसम्बर 2016 तक न वसूलने का निर्देश दिया था ताकि डिज़िटल भुगतान करने के लिए लोगों अधिकाधिक प्रेरित व उत्साहित किया जाए।

 MDR वह कमीशन (commission) होता है जिसका भुगतान व्यावसायिक प्रतिष्ठानों (merchant establishments) द्वारा बैंकों को उनके (बैंकों के) कार्डों से होने वाले डिज़िटल भुगतान के लिए किया जाता है। वर्ष 2012 से RBI ने MDR की अधिकतम दर को 2,000 रुपए तक के भुगतान पर 0.75% तथा 2,000 रुपए से अधिक के भुगतान पर 1% तक तय कर दिया है।

…………………………………………………….

7) तमिलनाडु (Tamil Nadu) राज्य में सत्ताधारी दल अन्नाद्रमुक (AIADMK) में चले लम्बे गतिरोध के बाद 16 फरवरी 2017 को किसने राज्य के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली? – ई.के. पलानीस्वामी (E.K. Palaniswami)

विस्तार: ई.के. पलानीस्वामी (E.K. Palaniswami) ने तमिलनाडु के नए मुख्यमंत्री के रूप में 16 फरवरी 2017 को शपथ ली। उनके पद ग्रहण करने से सत्ताधारी दल अन्नाद्रमुक (AIADMK) में पिछले कुछ समय से चले आ रहे राजनीतिक गतिरोध का भी फिलहाल पटाक्षेप हो गया। उन्हें तथा उनकी कैबिनेट के कुल 31 सदस्यों को राज्य के राज्यपाल (Governor) सी. विद्यासागर राव (Ch. Vidyasagar Rao) ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इसके साथ ही उन्होंने नए मुख्यमंत्री को 15 दिन के भीतर अपना बहुमत तमिलनाडु विधानसभा में सिद्ध करने का निर्देश भी दिया।

 पलानीस्वामी के मंत्रिमण्डल में महासचिव वी.के. शशिकला (V.K. Sasikala) के खिलाफ बगावत करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेलवम (O. Panneerselvam) तथा वरिष्ठ नेता के. पाण्डिराजन (K. Pandiarajan) के अलावा वे सभी मंत्री शामिल हैं जो दिवंगत मुख्यमंत्री जे. जयललिता के मंत्रिमण्डल में शामिल थे। इसके अलावा के.ए. सेनगोट्टियन (K. A. Sengottaiyan) मंत्रिमण्डल में एकमात्र नया चेहरा हैं।

 उल्लेखनीय है कि शशिकला राज्य की मुख्यमंत्री बनने के मंसूबे पाल रही थीं लेकिन आय से अधिक सम्पत्ति के एक 20 साल पुराने मामले में उन्हें सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 14 फरवरी 2017 को दोषी करार दिए जाने के बाद उनके निर्देश पर ई.के. पलानीस्वामी को पार्टी विधायक दल का नया नेता चुना गया था। वहीं शशिकला ने बेंगलूरु के एक विशेष न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था तथा उन्हें 15 फरवरी 2017 को वहां के केन्द्रीय जेल भेज दिया गया था।

…………………………………………………….

8) सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) ने 17 फरवरी 2017 को “राष्ट्रीय गीत” (‘National Song’) के सम्बन्ध में क्या महत्वपूर्ण टिप्पणी की? – उसने स्पष्ट किया कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51 (A) में राष्ट्रीय गीत की कोई व्यवस्था नहीं है

विस्तार: सर्वोच्च न्यायालय में दायर एक याचिका में अनुरोध किया गया था कि वह केन्द्र सरकार को भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51 (A), जिसका सम्बन्ध मूल कर्तव्यों से है, के संदर्भ में राष्ट्र गान (National Anthem), राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) व राष्ट्रीय गीत (National Song) का प्रचार-प्रसार करने के बारे में निर्देश जारी करे।

 इस याचिका को खारिज करते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि अनुच्छेद 51 (A) सिर्फ राष्ट्र गान (“जन गण मन”) एवं राष्ट्रीय ध्वज को मान्यता प्रदान करता है तथा उक्त अनुच्छेद में “राष्ट्रीय गीत” (“वन्दे मातरम”) को मान्यता नहीं प्रदान की गई है।

 यह याचिका भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय (Ashwini Upadhyay) द्वारा दायर की गई थी। इसके अलावा सर्वोच्च न्यायालय ने अपने आदेश में राष्ट्र गान को कार्यालयों, न्यायालयों, विधानमण्डलों तथा संसद में गाए जाने से सम्बन्धित एक प्रार्थना को भी अस्वीकार कर दिया।

…………………………………………………….

9) 16 फरवरी 2017 को पाकिस्तान में सुप्रसिद्ध सूफी संत लाल शहबाज कलंदर (Lal Shahbaz Qalandar) की दरगाह में इस्लामिक स्टेट (IS) के फिदायीन हमलावर द्वारा किए गए भयंकर बम विस्फोट में कम से 76 लोगों की मौत हो गई जबकि लगभग 250 लोग घायल हो गए। यह प्रसिद्ध दरगाह दक्षिण सिंध प्रांत के किस कस्बे में स्थित है? – सहवान (Sehwan)

विस्तार: सूफी संत लाल शहबाज कलंदर की दरगाह दक्षिण सिंध प्रांत के सहवान (Sehwan) कस्बे में स्थित है जोकि कराची से लगभग 200 किमी उत्तर-पूर्व में स्थित है। उल्लेखनीय है कि शहबाज कलंदर तेरहवीं सदी के एक सुप्रसिद्ध सूफी संत व दार्शनिक थे तथा उनका प्रभाव उस समस्त क्षेत्र में था जहाँ वर्तमान पाकिस्तान व अफगानिस्तान है।

 इस दरगाह पर 16 फरवरी 2017 को उस समय एक फिदायीन हमलावर ने अपने-आपको उड़ा दिया जब यहाँ सूफी परंपरा का प्रसिद्ध “धमाल” नृत्य चल रहा था। उस समय इस साप्ताहिक नृत्य आयोजन के कारण दरगाह में भारी भीड़ थी।

 बाद में इस घटना की जिम्मेदारी लेते हुए इस्लामिक स्टेट (IS) ने अपनी आमाक न्यूज़ एजेंसी में दावा किया की फिदायीन हमलावर ने एक शिया स्थल को अपना निशाना बनाया है। कट्टर इस्लामी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट धर्म में नृत्य व संगीत के आयोजन को गैर-इस्लामी मानता है।

…………………………………………………….

10) विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) के प्रवक्ता (Spokesperson) विकास स्वरूप (Vikas Swarup) को 16 फरवरी 2017 को किस देश में भारत का उच्चायुक्त (High Commissioner) नियुक्त किया गया? – कनाडा (Canada)

विस्तार: विकास स्वरूप, जोकि 1986 बैच के भारतीय विदेश सेवा (IFS) के अधिकारी हैं, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का पद अप्रैल 2015 से संभाले हुए थे, जब भारत की विदेश नीति की दिशा में एक बड़ा परिवर्तन होना शुरू हुआ था। उन्हें विदेश मंत्रालय से सम्बन्धित तमाम मसलों को संवेदनशीलता से निपटाने तथा उनकी सोशल मीडिया में स्वीकार्यता बढ़ाने में अहम भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है।

 उल्लेखनीय है कि उनके लिखे पहले उपन्यास ‘Q & A’ को आधार बनाकर ऑस्कर पुरस्कार जीतने वाली बहुचर्चित फिल्म “स्लमडॉग मिलिनेयर” (“Slumdog Millionaire”) बनाई गई थी।

 वहीं विदेश मंत्रालय में पाकिस्तान, ईरान व अफगानिस्तान विभाग के संयुक्त सचिव की भूमिका निभा रहे गोपाल बागले (Gopal Baglay) को मंत्रालय का अगला प्रवक्ता नियुक्त किया गया है।

…………………………………………………….

 

http://churugurukul.com/current-affairs-15-16-february-2017