Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 23 - 24 June 2017

1) दुनिया के सबसे छोटे और सबसे हल्के उपग्रह “कलामसैट” (“KalamSat”) को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) ने 21 जून 2017 को सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में प्रक्षेपित कर दिया। इस नैनो-उपग्रह को तैयार करने वाले भारतीय युवा का क्या नाम है? – रिफत शारुक (Rifath Sharook)

विस्तार: “कलामसैट” दुनिया का सबसे छोटा और हल्का उपग्रह है तथा इसका वजन मात्र 64 ग्राम है। इस उपग्रह को अमेरिकी एजेंसी नासा ने अपने एक साउंडिंग रॉकेट की मदद से अपनी अपेक्षित कक्षा में 21 जून 2017 को प्रक्षेपित कर दिया। यह प्रक्षेपण नासा के वैलप्स आइलैण्ड (Wallops Island) केन्द्र से किया गया।

इस उपग्रह से जुड़ी खास बात यह है कि इसका विकास तमिलनाडु के पल्लापट्टी (Pallapatti) नामक स्थान के 18-वर्षीय छात्र रिफत शारुक (Rifath Sharook) ने अपने कुछ सहयोगियों के साथ किया है। नासा तथा idoodlelearning नामक एक शैक्षणिक कम्पनी द्वारा संचालित एक प्रतियोगिता (“Cubes in Space”) के तहत उन्हें इस नैनो-उपग्रह को तैयार करने का मौका मिला।

“कलामसैट” नाम भारत के पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के नाम पर रखा गया है। इस उपग्रह को तैयार करने में कार्बन फाइबर पॉलिमे (carbon fibre polymer) नामक पदार्थ का इस्तेमाल किया गया जो एक स्मार्टफोन से भी हल्का है। उपग्रह का मुख्य उद्देश्य त्रिआयामी प्रिंटेड कार्बन फाइबर (3D-printed carbon fibre) की उपयोगिता दर्शाना है।

…………………………………………………………………

2) केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वैंकैय्या नायडू ने 23 जून 2017 को 30 और स्मार्ट शहरों की सूची जारी की जिन्हें केन्द्र सरकार के महात्वाकांक्षी स्मार्ट सिटी मिशन (Smart Cities Mission) में शामिल किया गया है। इन 30 शहरों में किस शहर ने सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया? – तिरुवनंतपुरम

विस्तार: स्मार्ट सिटी मिशन की दूसरी वर्षगाँठ पर 23 जून 2017 को केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वैंकैय्या नायडू ने देश के 30 और शहरों को इस मिशन में शामिल करने की घोषणा की। इसके चलते इस मिशन में शामिल कुल शहरों की संख्या 90 तक पहुँच गयी है।

स्मार्ट सिटी मिशन में नए शहरों के लिए देश भर के तमाम शहरों को तमाम विभिन्न मापदण्डों पर मापा गया एवं केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम (तिरुवनंतपुरम) इन 30 शहरों में सर्वाधिक अंक हासिल कर सबसे आगे रहा।

इस सूची में शामिल अन्य शहर हैं – नया रायपुर (छत्तीसगढ़), राजकोट (गुजरात), अमरावती (आन्ध्र प्रदेश), पटना (बिहार), करीमनगर (तेलंगाना), मुज्जफरपुर (बिहार), पुड्डुचेरी, गांधीनगर (गुजरात), श्रीनगर (जम्मू एवं कश्मीर), सागर (मध्य प्रदेश), करनाल (हरियाणा), सतना (मध्य प्रदेश), बेंगलूरू (कर्नाटक), शिमला (हिमाचल प्रदेश), देहरादून (उत्तराखण्ड), तिरुपुर (तमिलनाडु), पिम्परी-चिंचवाड (महाराष्ट्र), बिलासपुर (छत्तीसगढ़), पासीघाट (अरुणाचल प्रदेश), जम्मू (जम्मू एवं कश्मीर), दाहोड (गुजरात), तिरुनलवेली, थोट्टुकुडी  और तिरुचिरापल्ली (तमिलनाडु), झांसी (उत्तर प्रदेश), आइजॉल (मिज़ोरम), इलाहाबाद और अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश) तथा गंगटोक (सिक्किम)।

उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार की योजना देश के 100 शहरों को स्मार्ट शहर घोषित करने की है तथा अब तक 90 शहर सूची में शामिल किए जा चुके हैं।

…………………………………………………………………

3) भारतीय रिज़र्व बैंक ने बैंकों के खराब ऋणों (Bad Debts) की समस्या का हल निकालने के लिए गठित निगरानी समिति (Oversight Committee) में 22 जून 2017 को तीन और सदस्यों को शामिल किया ताकि इस विषय में तेजी से काम किया जा सके। समिति में शामिल किए गए ये तीन नए सदस्य कौन हैं? – एम.बी.एन. राव, वाई.एम. देवस्थली और एस. रमण

विस्तार: भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने कैनरा बैंक के भूतपूर्व अध्यक्ष व प्रबन्ध निदेशक एम.बी.एन. राव (M.B.N. Rao), एल एण्ड टी फाइनेंस होल्डिंग्स लिमिटेड के पूर्व अध्यक्ष व प्रबन्ध निदेशक वाई.एम. देवस्थली (Y.M. Deosthalee) और सेबी के पूर्णकालिक सदस्य एस. रमण (S. Raman) को अपनी निगरानी समिति में नए सदस्यों के रूप में 22 जून 2017 को शामिल कर लिया। इससे उक्त समिति में कुल सदस्यों की संख्या पाँच हो गई है।

वर्तमान में इस समिति के दो सदस्य हैं – भारतीय स्टेट बैंक के पूर्व अध्यक्ष जानकी बल्लभ (Janki Ballabh) और पूर्व मुख्य सतर्कता अधिकारी प्रदीप कुमार (Pradeep Kumar)।

इसके अलावा भारतीय रिज़र्व बैंक ने इस समिति के अधिकार क्षेत्र में विस्तार करते हुए इसे तनावग्रस्त परिसम्पत्तियों (stressed assets) के उन मामलों का निपटारा करने का अधिकार प्रदान कर दिया जिनमें ऋणप्रदत्ता (lender) का 500 करोड़ से अधिक धन शामिल है।

उल्लेखनीय है कि RBI की निगरानी समिति का गठन में बैंक द्वारा लाई गई S4A योजना (Scheme for Sustainable Structuring of Stressed Assets) के दौरान जून 2016 में किया गया था। इस समिति के गठन का मुख्य उद्देश्य यह था कि इस समिति से मंजूरी मिलने से बैंकों को अपनी तनावग्रस्त परिसम्पत्तियों का निपटारा करने के मामले किसी अन्य जाँच एजेंसी अथवा सतर्कता संस्था के समक्ष सफाई नहीं देनी पड़ेगी।

…………………………………………………………………

4) जून 2017 के दौरान किन दो देशों को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने टेस्ट मैच खेलने का दर्जा प्रदान कर दिया? – अफगानिस्तान और आयरलैण्ड

विस्तार: 22 जून 2017 को लंदन (LOndon) में हुई अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (International Cricket Council – ICC) की बोर्ड बैठक में अफगानिस्तान (Afghanistan) और आयरलैण्ड (Ireland) को परिषद के पूर्णकालिक सदस्यों (Full Members) का दर्जा प्रदान कर दिया गया जिससे यह दोनों देश टेस्ट मैच खेलने का दर्जा हासिल करने वाले दुनिया के क्रमश: 11वें और 12वें देश बन गए।

इन दोनों देशों के क्रिकेट बोर्डों ने आईसीसी को अपने एसोसिएट सदस्य का दर्जा बढ़ा कर पूर्णकालिक सदस्य का दर्जा प्रदान करने की प्रार्थना की थी तथा इस प्रस्ताव को 22 जून को हुई परिषद की बोर्ड बैठक में सर्वसम्मति से पारित कर अफगानिस्तान और आयरलैण्ड को यह दर्जा मिल गया। पूर्णकालिक सदस्यता हासिल कर दोनों देशों को टेस्ट मैच खेलने का दर्जा स्वत: हासिल हो गया।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2005 से इन दोनों देशों ने टेस्ट मैच खेलने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन ICC इंटरकॉण्टिनेण्टल कप (ICC Intercontinental Cup) में कई बार किया है। यह कप आईसीसी के एसोसिएट सदस्यों के लिए फर्स्ट-क्लास क्रिकेट का सर्वप्रमुख टूर्नामेण्ट है।

टेस्ट-मैच खेलने का दर्जा हासिल करने वाले अन्य देश हैं – ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैण्ड, दक्षिण अफ्रीका, वेस्ट इंडीज़, भारत, पाकिस्तान, न्यूज़ीलैण्ड, श्रीलंका, जिम्बाब्वे और बांग्लादेश। यह दर्जा हासिल करने वाला अंतिम देश बांग्लादेश था जिसे यह दर्जा वर्ष 2000 में प्रदान किया गया था।

…………………………………………………………………

5) केन्द्र सरकार द्वारा 23 जून 2017 को लाँच किए गए उस सूचकांक का क्या नाम है जिसके अंतर्गत देश के 116 शहरों को वहाँ जीवन यापन करने के लिए प्रदत्त गुणवत्ता के आधार पर रैंक प्रदान किया जायेगा? – “सिटी लिवेबिलिटी इंडेक्स” (“City Liveability Index”)

विस्तार: केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वैंकैय्या नायडू ने 23 जून 2017 को देश में अपने तरह के पहले “सिटी लिवेबिलिटी इंडेक्स” (“City Liveability Index”) को लाँच किया। इस सूचकांक के तहत देश भर के 116 शहरों को कुल 79 विभिन्न प्रकार के पैमानों पर वहाँ जीवन जीने की गुणवत्ता की स्थिति की कसौटी पर कसा जायेगा तथा इन सब शहरों को रैंकिंग प्रदान की जायेगी। इस सूचकांक को तैयार करने के लिए तैयार किए गए 79 पैमानों (parameters) में से कुछ सर्वप्रमुख है – सड़कें, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवाएं तथा रोजगार के अवसर।

“सिटी लिवेबिलिटी इंडेक्स” के द्वारा इस शहरों के प्रशासकों को गुणवत्ता के पैमानों के आधार अपने यहाँ उपलब्ध सुविधाओं का वस्तुपरक आकलन करने में मदद मिलेगी। इस सूचकांक के तहत तैयार शहरों की रैंकिंग पहली वर्ष 2018 में जारी की जायेगी।

…………………………………………………………………

 

http://churugurukul.com/current-affairs-21-22-june-2017