Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 23 - 26 Aug 2017

 

1) सर्वोच्च न्यायालय की 5-सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने 22 अगस्त 2017 को दिए एक ऐतिहासिक फैसले में “तीन तलाक” (यानि तीन बार तलाक कह कर पत्नी को तलाक दे देना) की प्रथा को असंवैधानिक करार देते हुए इसे समाप्त कर दिया। इस पीठ ने अपने फैसले में यह नहीं माना कि तीन तलाक की रिवायत को अनुच्छेद 25 के तहत संरक्षण मिलना चाहिए। इस मामले को सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष लाने वाली महिला कौन हैं? – शायरा बानो (Shayara Bano)

विस्तार: शायरा बानो (Shayara Bano) उत्तराखण्ड के काशीपुर की रहने वाली मुस्लिम महिला हैं तथा तीन तलाक अथवा ट्रिपल तलाक को असंवैधानिक करार देने के लिए उन्होंने ही सर्वोच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका (PIL) वर्ष 2016 में दाखिल की थी। उन्हें अक्टूबर 2015 में उनके पति ने 14 वर्ष लम्बे विवाह के बाद ट्रिपल तलाक की प्रथा के तहत एकाएक तलाक देकर घर से निकाल दिया था।

उनके याचिका दायर करने के बाद देश के विभिन्न क्षेत्रों की तमाम अन्य पीड़ित महिलाओं ने भी सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन चूंकि शायरा बानो इस मामले में पहली याचिकाकर्ता थीं इसलिए यह मामला शायरा बानो बनाम भारतीय संघ (Shayara Bano versus the Union of India) के नाम से प्रसिद्ध हुआ।

इस मुद्दे पर फैसला देने के लिए गठित सर्वोच्च न्यायालय की 5-सदस्यीय पीठ ने 2 के मुकाबले 3 मतों (3:2) से ट्रिपल तलाक को असंवैधानिक करार दिया। अपने आदेश में पीठ ने “तलाक-ए-बिद्दत” (तीन-तलाक) को धार्मिक स्वतंत्रता से सम्बन्धित संविधान के अनुच्छेद 25 का भाग नहीं माना है। हालांकि मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति जे.एस. खेहर (Chief Justice J.S. Khehar) और न्यायमूर्ति एस. अब्दुल नज़ीर (Justice S. Abdul Nazeer) ने इससे अलग राय देते हुए “ट्रिपल तलाक” को अनुच्छेद 25 का हिस्सा माना लेकिन अन्य तीन न्यायाधीशों न्यायमूर्ति कूरियन जोसेफ (Justice Kurian Joseph), यू.यू. ललित (Justice U.U. Lalit) और रोहिन्टन फली नरीमन (Justice Rohinton Fali Nariman) ने ट्रिपल तलाक को पूर्णतया असंवैधानिक माना।

अपने निर्णय में न्यायमूर्ति जस्टिस कूरियन ने माना कि तुरंत तलाक देने की यह प्रथा कुरआन की आयतों के खिलाफ है। न्यायमूर्ति यू.यू. ललित ने इसका समर्थन किया। कूरियन ने कहा कि 1400 वर्षों से ट्रिपल तलाक की परंपरा कायम है, सिर्फ इस तथ्य के आधार पर इसे अनुच्छेद 25 का हिस्सा नहीं माना जा सकता है।

……………………………………………………………………………..

2) केन्द्र सरकार ने 23 अगस्त 2017 को अन्य पिछड़ा वर्गों (OBCs) के लिए तय क्रीमी लेयर की सीमा (creamy layer ceiling) को बढ़ाकर कितना कर? – 8 लाख रुपए वार्षिक

विस्तार: केन्द्रीय किबिनेट ने 23 अगस्त 2017 को अन्य पिछड़ा वर्गों (Other Backward Classes – OBCs) को प्रदत्त आरक्षण हेतु क्रीमी लेयर की आय सीमा को वर्तमान 6 लाख रुपए वार्षिक से बढ़ाकर 8 लाख रुपए वार्षिक कर दिया। इसका अर्थ हुआ कि अब ओबीसी कोटे के तहत केन्द्रीय नौकरियों में आरक्षण का लाभ 8 लाख रुपए वार्षिक से कम आय वाले वर्ग को ही मिलेगा।

केन्द्र सरकार के अनुसार देखा गया है कि इस वर्ग में आरक्षित सीटों हर साल बड़ी मात्रा में खाली रह जाती हैं और इसका फायदा किसी को नहीं मिल पाता है। अब इस निर्णय से इस कोटे के तहत आरक्षण पाने वाले अधिक लोगों को इसका लाभ मिल सकेगा।

……………………………………………………………………………..

3) रेलवे बोर्ड (Railway Board) के अध्यक्ष (Chairman) पद से ए.के. मित्तल (A.K. Mittal) द्वारा इस्तीफा दिए जाने के बाद 23 अगस्त 2017 को इस पद पर किसकी नियुक्ति केन्द्र सरकार द्वारा की गई? – अश्विनी लोहानी (Ashwani Lohani)

विस्तार: एयर इण्डिया (Air India) के अध्यक्ष व प्रबन्ध निदेशक (CMD) के रूप में तैनात अश्विनी लोहानी (Ashwani Lohani) को केन्द्र सरकार ने 23 अगस्त 2017 को रेलवे बोर्ड (Railway Board) का नया अध्यक्ष बना दिया। उन्होंने ए.के. मित्तल का स्थान लिया है जिन्होंने एक दिन पूर्व इस पद से इस्तीफा दे दिया था।

मीडिया की कुछ रिपोर्टों के अनुसार मित्तल ने 19 अगस्त 2017 को मुजफ्फरनगर में पुरी और हरिद्वार के बीच चलने वाली कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए 22 अगस्त 2017 को अपने पद से इस्तीफा दिया है।

उल्लेखनीय है कि अश्विनी लोहानी भारतीय रेल की मैकेनिकल इंजीनियरिंग सर्विस (IRSME) काडर के अधिकारी हैं तथा इससे पहले उन्होंने रेलवे में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किया है – जैसे डीआरएम (दिल्ली डिवीज़न), निदेशक, राष्ट्रीय रेल संग्रहालय तथा मुख्य प्रशासनिक अधिकारी, रेल वैकल्पिक ऊर्जा विभाग। दुनिया की सबसे पुरानी भाप के इंजन से चालित ट्रेन “फेयरी क्वीन एकसप्रेस” (‘Fairy Queen Express’) को इतने लम्बे समय तक परिचालित करने के लिए उन्हें गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड का प्रमाणपत्र भी मिल चुका है।

……………………………………………………………………………..

4) भारतीय नाविकों (India seafarers) को अवैध तरीके से अपंजीकृत एजेंटों द्वारा काम करने के लिए विदेश भेजने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाने के लिए नौवहन महानिदेशालय (Director General of Shipping – DGS) ने अगस्त 2017 के दौरान किस उपाय को लागू करने की घोषणा की? – विदेश जाने वाले भारतीय नाविकों के आंकड़ों की पड़ताल के लिए एक अत्याधुनिक सॉफ्टवेयर

विस्तार: नौवहन क्षेत्र (maritime) में भारत सरकार की नियामक संस्था नौवहन महानिदेशालय Director General of Shipping – DGS) ने एक अत्याधुनिक ई-माइग्रेशन सॉफ्टवेयर (e-migrate software) तैयार करने की घोषणा अगस्त 2017 के दौरान की। इसको भारत सरकार के विदेश मंत्रालय से सम्बद्ध उपक्रम प्रोटेक्टर ऑफ एमिग्रेण्ट्स (Protector of Emigrants – PoE) के सुझावों के अनुरूप बनाया गया है।

इस सॉफ्टवेयर के द्वारा विदेश जाने वाले भारतीय नाविकों के समस्त आंकड़ों को आसानी से कैप्चर किया जा सकेगा तथा ऐसे नाविकों तथा उन्हें अवैध तरीके से सेवायोजन प्रदान कर भेजने वाली एजेंसियों का पता लगाया जा सकेगा जो अपंजीकृत हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले काफी समय से तमाम एजेंट तथा एजेंसियाँ भारतीय नाविकों को अवैध तरीके से काम के लिए विदेश भेजती हैं तथा पकड़े जाने पर ऐसे नाविकों को स्वयं जद्दोजेहद करनी पड़ती है।

……………………………………………………………………………..

5) आर्थिक मामलों पर गठित कैबिनेट समिति (CCEA) ने 23 अगस्त 2017 को घाटा झेल रहे किस केन्द्र सरकार के उपक्रम (loss-making PSU) को बंद करने के प्रस्ताव को अंतिम मंजूरी प्रदान कर दी? – भारत वैगन एण्ड इंजीनियरिंग कम्पनी लिमिटेड (Bharat Wagon and Engineering Company Limited – BWEL)

विस्तार: आर्थिक मामलों पर गठित कैबिनेट समिति (CCEA) ने केन्द्र सरकार के उपक्रम भारत वैगन एण्ड इंजीनियरिंग कम्पनी लिमिटेड ((Bharat Wagon and Engineering Company Limited – BWEL) को बंद करने के प्रस्ताव को 23 अगस्त 2017 को अपनी अंतिम मंजूरी प्रदान कर दी। यह उपक्रम पिछले काफी समय से काफी घाटा झेल रहा है।

1978 में संस्थापित यह उपक्रम भारतीय रेल के लिए वैगन (मालगाड़ी के डिब्बे) बनाने में संलग्न है। लेकिन पिछले 10 सालों से लगातार हो रहे घाटे तथा खराब वित्तीय स्थिति को देखते हुए इसे बंद करने का निर्णय केन्द्र सरकार ने लिया है।

केन्द्र सरकार द्वारा इस सम्बन्ध में मंजूर प्रस्ताव के अनुसार भारत वैगन एण्ड इंजीनियरिंग लिमिटेड के 626 कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) का लाभ वर्ष 2007 के वेतनमान के अनुसार मिलेगा। इसके लिए केन्द्र सरकार एक बार की 151.8 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता उपक्रम को प्रदान करेगी जिसका उपयोग कर्मचारियों के सेवा छोड़ने के पैकेज (severance package) तथा उपक्रम की निवर्तमान देनदारियों को चुकाने में किया जायेगा।

……………………………………………………………………………..

 

6) गूगल (Google) के जल्द लाँच होने वाले एण्ड्रॉयड (Android) मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम को क्या नाम दिया गया, जिसके बारे में कम्पनी ने 21 अगस्त 2017 को घोषणा की? – ओरियो (Oreo)

विस्तार: गूगल के जल्द लाँच होने वाले एण्ड्रॉयड मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम, जोकि इसका वर्ज़न 8.0 होगा, को “ओरियो” (Oreo) के नाम से जाना जायेगा। यह नाम कैडबरीज़ के स्वामित्व वाली कम्पनी मॉन्डेलेज़ द्वारा प्रस्तुत सुप्रसिद्ध बिस्किट ब्राण्ड “ओरियो” के नाम पर आधारित है तथा कम्पनी ने पुरानी परम्परा का अनुसरण करते हुए एक बार फिर एक मीठे डेज़र्ड के नाम पर अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम रखा है।

ओरियो, जोकि एण्ड्रॉयड का संस्करण 8.0 (Android 8.0) होगा, कई नयी खूबियों के साथ पेश किया आयेगा – जैसे पिक्चर इन पिक्चर मोड (PIP mode) जिसमें प्रयोगकर्ता अपने मोबाइल पर वीडियो के आकार को अपनी इच्छानुसार छोटा कर अन्य एप्स पर भी नज़र रख सकेंगे।

उल्लेखनीय है कि गूगल ने 27 अप्रैल 2009 को पेश अपने एण्ड्रॉयड संस्करण 1.5 को कपकेक (Cupcake) नाम दिया था तथा तभी से कम्पनी ने प्रसिद्ध डेज़र्ड पदार्थों अथवा ब्राण्ड्स के नाम पर अपने एण्ड्रॉयड वर्ज़न का नाम रखने की परम्परा शुरू की थी। इसके बाद कम्पनी द्वारा लाए गए अगले एण्ड्रॉयड संस्करणों के नाम थे – Donut (2009), Eclair (2009), Froyo (2010), Gingerbread (2010), Honeycomb (2011), Ice Cream Sandwich (2011), Jelly Bean (2012), Kit Kat (2013), Lollipop (2014), Marshmallow (2015) और Nougat (2016)।

एक और ध्यान देने वाली बात यह है कि कम्पनी इन नामों को रखने में अंग्रेजी वर्णमाला का अनुसरण कर रही है जिसके मुताबिक अगला एण्ड्रॉयड वर्ज़न अंग्रेजी के “P” अक्षर से शुरू होगा।

………………………………………………………………

7) 19 अगस्त 2017 को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में हुए रेल हादसे (Train Accident) में किस एक्सप्रेस ट्रेन के पटरी से उतर जाने के चलते कम से कम 23 यात्रियों की मौत हो गई? – कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस (Kalinga-Utkal Express)

विस्तार: कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस (Kalinga-Utkal Express) भारतीय रेल की एक प्रमुख एक्सप्रेस ट्रेन है तथा यह देश के दो प्रमुख तीर्थ-स्थलों – पुरी (Puri) और हरिद्वार (Haridwar) के मध्य चलती है। पुरी से हरिद्वार आ रही यह ट्रेन (ट्रेन संख्या -18477 ) उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में स्थित खतौली (Khatauli) रेलवे स्टेशन के पास पटरी से उतर गई।

ट्रेन के 23 में से 14 डिब्बे पटरी से उतर गए तथा एक दूसरे के ऊपर चढ़ गए जबकि एक डिब्बा पटरी के पास स्थित एक मकान में घुस गया। इस भयंकर दुर्घटना के कारण कम से कम 23 लोग मारे गए जबकि 123 से अधिक यात्री घायल हो गए। दुर्घटना का मुख्य कारण रेलवे कर्मियों की लापरवाही को माना जा रहा है क्योंकि इस रेल लाइन पर काम चल रहा था तथा इसके बावजूद इस ट्रेन को तेज गति से गुज़रने दिया गया।

घटना के बाद रेल मंत्रालय ने रेलवे बोर्ड के सदस्य (इंजीनियरिंग), उत्तर रेलवे के महाप्रबन्धक (GM) और दिल्ली के डीआरएम (DRM) को छुट्टी पर भेज दिया जबकि उत्तर रेलवे के मुख्य ट्रैक इंजीनियर को स्थानांतरित कर दिया। इसके अलावा सहायक इंजीनियर, वरिष्ठ मण्डलीय इंजीनियर, जूनियर इंजीनियर और वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर को निलंबित कर दिया।

………………………………………………………………

8) केन्द्र सरकार ने चीन की सीमा से सटीं सड़क परियोजनाओं के काम को तेजी प्रदान करने के उद्देश्य से इस काम से सम्बन्धित किस उपक्रम के अधिकारियों को प्रदत्त वित्तीय अधिकारों में वृद्धि करने की घोषणा की? – सीमा सड़क संगठन (Border Roads Organisation – BRO)

विस्तार: रक्षा मंत्रालय ने 20 अगस्त 2017 को सीमा सड़क संगठन (Border Roads Organisation – BRO) के अधिकारियों की वित्तीय शक्तियों में वृद्धि करने की घोषणा की। ऐसा करने का मुख्य कारण चीन से सटी सीमा के पास चल रही सड़क परियोजनाओं को तेजी से पूरा करने की कोशिश करना है।

अभी तक सीमा सड़क संगठन (BRO) के मुख्य अभियंता (Chief Engineer) को 10 करोड़ रुपए तक के विभागीय कार्य तथा सहायक महानिदेशक (Assistant Director General) को 20 करोड़ रुपए तक के कार्य बिना किसी अन्य अनुमति के पूरा करने की शक्ति हासिल थी। अब मुख्य अभियंता 50 करोड़, सहायक महानिदेशक 75 करोड़ तथा महानिदेशक (Director General – DGBRO) 100 करोड़ रुपए तक के कार्य अपनी अनुमति से करवा सकेंगे।

उल्लेखनीय है कि एक तरफ चीन ने जहाँ भारतीय सीमा से सटे अपने इलाकों में सड़कों का मजबूत संजाल बिछा दिया है वहीं भारत के सैनिक अभी भी इन दुर्गम इलाकों तक पहुंचने के लिए लम्बी दूरियां पैदल तय करते हैं। इस क्षेत्र में वर्तमान में कार्यान्वित परियोजनाएं अपनी तय मियाद से वर्षों पीछे चल रही हैं।

………………………………………………………………

9) राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने कार्यकाल संभालने के बाद दिल्ली के बाहर की अपनी पहली आधिकारिक यात्रा में 21 अगस्त 2017 को किस इलाके का दौरा किया? – लेह (जम्मू व कश्मीर)

विस्तार: राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द (President Ramnath Kovind), जोकि भारतीय सशस्त्र सेनाओं के सर्वोच्च कमाण्डर भी हैं, ने 21 अगस्त 2017 को जम्मू व कश्मीर के लेह (Leh) क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरे की सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि 25 जुलाई 2017 को देश का सर्वोच्च संवैधानिक पद संभालने के बाद यह राष्ट्रपति की दिल्ली के बाहर की पहली आधिकारिक यात्रा थी।

एक दिन की इस यात्रा में उन्होंने लद्दाख स्काउट्स रेजीमेण्ट (Ladakh Scouts Regiment) तथा इससे जुड़ी 5 बटालियनों को ध्वज प्रदान किए।

………………………………………………………………

10) भारत का अब तक का सबसे बड़ा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) सौदा अगस्त 2017 के दौरान पूरा हो गया जब रुइया परिवार के उपक्रम एस्सार ऑयल (Essar Oil) के व्यवसाय को एक रूसी गठबन्धन द्वारा खरीदने की कार्रवाई पूरी हो गई। 12.9 अरब डॉलर ($12.9 billion) के इस सौदे में शामिल यह रूसी पक्ष कौन सा है? – रॉसनेफ्ट (Rosneft)

विस्तार: रूसी सरकार के नियंत्रण वाले रॉसनेफ्ट गठबन्धन (Rosneft Consortium) ने एस्सार ऑयल (Essar Oil) के व्यवसाय को 12.9 अरब डॉलर में खरीदने की कार्रवाई पूरी कर ली है। यह घोषणा एस्सार द्वारा 21 अगस्त 2017 को की गई। यह भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की आवक का सबसे बड़ा सौदा (largest inbound FDI deal) है तथा रूस से किसी देश में किया गया सबसे बड़ा एकल निवेश है।

इस सौदे के तहत रॉसनेफ्ट ने गुजरात के वडिनार में स्थित 2 करोड़ टन क्षमता वाली तेल रिफाइनरी, इससे जुड़ा हुआ एक विद्युत संयंत्र तथा एक बंदरगाह एवं कम्पनी के देशभर में स्थित लगभग 3,500 पेट्रोल पम्पों को हासिल कर लिया है। यह सौदा 15 अक्टूबर 2016 में गोवा में हुए ब्रिक्स सम्मेलन (BRICS Summit) की पृष्ठभूमि में हुआ था।

उल्लेखनीय है कि कर्जों के बोझ तले दबा हुआ एस्सार समूह इस सौदे से प्राप्त 70,000 करोड़ रुपए से अपने कर्जदारों को भुगतान करेगा। इसनें शामिल हैं – एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीबीआई बैंक और स्टैण्डर्ड चार्टर्ड बैंक।

………………………………………………………………

http://churugurukul.com/?q=current-affairs-19-22-aug-2017-0