Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 25 - 26 March 2017

1) भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबन्धन (NDA) सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्गों (OBCs) से सम्बन्धित एक नए प्रस्तावित आयोग को संवैधानिक मान्यता प्रदान करने के प्रस्ताव को 23 मार्च 2017 को अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी। इस आयोग का नाम क्या है? – राष्ट्रीय सामाजिक एवं शैक्षणिक पिछड़ा वर्ग आयोग (National Commission for Socially and Educationally Backward Classes – NSEBC)

विस्तार: राष्ट्रीय सामाजिक एवं शैक्षणिक पिछड़ा वर्ग आयोग (National Commission for Socially and Educationally Backward Classes – NSEBC) नामक यह प्रस्तावित आयोग राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग (National Commission for Backward Classes – NCBC) का स्थान लेगा जिसका गठन 1992 में सर्वोच्च न्यायालय के सम्बन्धित आदेश पर किया गया था।

 इस आयोग को पिछड़ा वर्गों में वर्गों को शामिल करने अथवा बाहर करने के बारे में प्राप्त होने वाले सुझावों पर विचार और निर्णय लेने का अधिकार होगा। इसमें एक अध्यक्ष, एक उपाध्यक्ष और तीन अन्य सदस्य होंगे।

 इस प्रस्तावित आयोग के गठन से पूर्व एक संवैधानिक संशोधन करना होगा, जो संभवत: संविधान में अनुच्छेद 338 ‘B’ (Section 338B) को जोड़ने से सम्बन्धित होगा जिससे उक्त आयोग को संवैधानिक मान्यता हासिल हो जायेगी तथा उसे राष्ट्रीय अनुसूचित जाति व जनजाति आयोग की भांति शक्तियाँ हासिल हो जायेंगी। इसके लिए संसद में तत्सम्बन्धित विधेयक प्रस्तुत किया जायेगा। इस विधेयक को संसद के दोनों सदनों में दो-तिहाई बहुमत हासिल करना होगा जिसके बाद देश के राज्यों की कम से कम आधी विधानसभाओं की स्वीकृति भी हासिल करनी होगी।

………………………………………………………………………

2) मार्च 2017 के दौरान भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी हाइपरसोनिक विण्ड टनल (hypersonic wind tunnel) को शुरू कर एक ऐतिहासिक मुकाम हासिल किया। उच्च प्रौद्यौगिकी वाली यह विण्ड टनल कहाँ स्थापित की गई है? – तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram)

विस्तार: ISRO ने विश्व की तीसरी सबसे बड़ी हाइपरसोनिक विण्ड टनल (world’s third largest hypersonic wind tunnel) को तिरुवनंतपुरम स्थित विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केन्द्र (Vikram Sarabhai Space Centre – VSSC) में 20 मार्च 2017 को शुरू कर एक नया इतिहास रच दिया।

 इस विण्ड टनल के तहत मुख्यत: एक मीटर लम्बी हाइपरसोनिक विण्ड टनल और एक-मीटर लम्बी शॉक टनल (shock tunnel) को तैयार किया गया है। आकार तथा सिमुलेशन क्षमता के अनुसार यह दुनिया की ऐसी तीसरी सबसे बड़ी प्रणाली है। इन प्रणालियों का नाम इसरो के भूतपूर्व प्रमुख सतीश धवन के नाम पर रखा गया है तथा इन प्रणालियों को भारतीय कम्पनियों के सहयोग से पूर्णतया स्वदेशी तकनीक से तैयार किया गया है।

 उल्लेखनीय है कि विण्ड टनल का इस्तेमाल ठोस पदार्थ से गुज़र रही हवा के प्रभावों के अध्ययन के लिए किया जाता है। माना जा रहा है कि इस विण्ड टनल की स्थापना से ISRO के भविष्य के अभियानों जैसे रियूज़ेबल लाँच वेहिकिल (Reusable Launch Vehicle – RLV) , टू स्टेज टू ऑर्बिट (Two Stage to Orbit’ – TSTO) रॉकेट, मानव युक्त अंतरिक्ष अभियानों और एयर ब्रीदिंग प्रोपल्शन प्रणालियों (air breathing propulsion systems) में प्रयोग किया जा सकेगा।

………………………………………………………………………

3) मार्च 2017 के दौरान जारी की गई वर्ष 2017 की विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट (World Happiness Report 2017) में भारत को वैश्विक तौर पर कौन सा स्थान दिया गया है? – 122वाँ

विस्तार: UN Sustainable Development Solutions Network (UNSDSN) ने अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस (International Day of Happiness) की पूर्वसंध्या पर 20 मार्च 2017 को वर्ष 2017 की विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट (World Happiness Report 2017) को जारी किया। इसमें भारत को 155 देशों में 122वें स्थान पर रखा गया है।

 उल्लेखनीय है कि विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट में दुनिया भर के देशों को तमाम आधार पर 1 से 10 के पैमाने पर रख कर स्थान प्रदान किया जाता है। यह आधार हैं – असमानता, जीवन प्रत्याशा, प्रति व्यकि सकल घरेलू उत्पाद, सार्वजनिक भरोसा और सामाजिक सुरक्षा। माना जाता है कि इन समस्त पैमानों से किसी देश में प्रसन्नता के स्तर का आकलन किया जा सकता है।

 इस रिपोर्ट के अनुसार विश्व के पाँच सर्वाधिक प्रसन्न देश हैं – 1) नॉर्वे 2) डेनमार्क 3) आइसलैण्ड 4) स्विट्ज़रलैण्ड और 5) नीदरलैण्ड्स। वहीं दुनिया के 5 सबसे अप्रसन्न देश हैं 1) रवाण्डा 2) सीरिया 3) तंजानिया 4) बुरुण्डी और 5) सेण्ट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक।

………………………………………………………………………

4) समकालीन समय के कुछ सुविख्यात लेखकों में से एक अशोकमित्रन (Ashokamitran) का 23 मार्च 2017 को निधन हो गया। उन्हें किस भाषा में की गई रचनाओं के लिए जाना जाता है? – तमिल (Tamil)

विस्तार: अशोकमित्रन (Ashokamitran) देश की स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद तमिल साहित्य में योगदान देने वाले अग्रणी लेखकों में से एक थे। उन्हें समकालीन तमिल कथाकारों में काफी उच्च स्थान पर रखा जाता है। 86 वर्ष की आयु में उनका 23 मार्च 2017 को चेन्नई में निधन हो गया।

 उनका जन्म 1931 में मौजूदा तेलंगाना के सिकन्दराबाद में जे. त्यागराजन (J. Tyagarajan) के रूप में हुआ था। माता-पिता की मृत्यु के बाद वे चेन्नई चले गए थे तथा यहाँ के प्रसिद्ध जेमिनी स्टूडीयोज़ में एक सहायक के रूप में काम शुरू करने के बाद वे पूरी तरह से लेखन में कूद पड़े थे। 60 के दशक में उन्होंने अशोकमित्रन के छद्मनाम (pseudonym) से लिखना शुरू कर दिया था तथा वे इसी नाम से लोकप्रिय भी हो गए।

 उन्होंने तमिल में 200 से अधिक कहानियाँ लिखी थीं तथा उन्हें अपनी सरल व कलानिष्ट लेखन शैली दोनों के लिए याद किया जाता है। 60 के दशक के अंत में मद्रास (वर्तमान चेन्नई) में भीषण जल संकट पर लिखे उनके उपन्यास “थन्नीर” (जल) को तमिल भाषा के एक कालजयी उपन्यास की मान्यता मिली हुई है।

………………………………………………………………………

5) शिवसेना (Shiv Sena) का वह कौन सा सांसद (MP) है जो 23 मार्च 2017 को एयर इण्डिया (Air India) के एक कर्मी की पिटाई कर चर्चा में आ गया तथा घरेलू एयरलाइन्स ने जिनके विमान सेवाएं लेने पर प्रतिबन्ध लगाने की घोषणा भी कर दी? – रवीन्द्र गायकवाड (Ravindra Gaikwad)

विस्तार: रवीन्द्र गायकवाड (Ravindra Gaikwad) शिवसेना (Shiv Sena) के सांसद (MP) हैं तथा लोकसभा में महाराष्ट्र (Maharashtra) की उस्मानाबाद (Osmanabad) सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। ये सांसद 23 मार्च 2017 को उस समय चर्चा में आ गया जब इसने सार्वजनिक विमानन कम्पनी एयर इण्डिया के एक 60-वर्षीय वरिष्ठ कर्मचारी को चप्पलों से बुरी तरह से पीटा क्योंकि दिल्ली आने वाले विमान में उन्हें बिजनेस क्लास सीट नहीं प्रदान की गई थी तथा इस सम्बन्ध में वे उक्त अधिकारी (श्री सुकुमार) के रवैये से खुश नहीं थे। हालांकि एयर इण्डिया ने स्पष्ट किया कि सांसद गायकवाड को एक दिन पूर्व यह स्पष्ट कर दिया गया था कि उन्हें बिजनेस क्लास की सीट उपलब्ध नहीं हो पायेगी।

 24 मार्च 2017 इस मामले में सभी घरेलू विमान कम्पनियों ने अनूठी एकजुटता का प्रदर्शन करने हुए निर्णय लिया कि रवीन्द्र गायकवाड को तत्काल प्रभाव से विमान सेवाएं लेने से प्रतिबन्धित कर दिया गया है। यह निर्णय एयर इण्डिया के अलावा फेडरेशन ऑफ इण्डियन एयरलाइन्स (Federation of Indian Airlines – FIA) नामक संगठन ने लिया जिसके सदस्य के रूप में इण्डिगो (IndiGo), जेट एयरवेज़ (Jet Airways), स्पाइसजेट (SpiceJet) और गोएयर (GoAir) जैसी विमान कम्पनियां शामिल हैं। यह देश में ऐसा पहला ही मौका था जब घरेलू विमान कम्पनियों ने जनता के किसी प्रतिनिधि की विमान सुविधा को इस प्रकार से प्रतिबन्धित कर दिया हो।

………………………………………………………………………

6) 25 मार्च 2017 को की गई घोषणा के अनुसार देश में अप्रत्यक्ष करों (Indirect Taxes) के नीति-निर्धारण की सर्वोच्च संस्था केन्द्रीय एक्साइज़ एवं कस्टम बोर्ड (Central Board of Excise & Customs – CBEC) का नया नाम क्या होगा? – केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं कस्टम बोर्ड (Central Board of Indirect Taxes & Customs – CBIC)

विस्तार: देश में 1 जुलाई 2017 से प्रस्तावित जीएसटी (GST) व्यवस्था के चलते देश में अप्रत्यक्ष करों के नीति-निर्धारण की सर्वोच्च संस्था केन्द्रीय एक्साइज़ एवं कस्टम बोर्ड (CBEC) का नाम बदलकर केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं कस्टम बोर्ड (Central Board of Indirect Taxes & Customs – CBIC) कर दिया जायेगा।

 CBIC जीएसटी व्यवस्था को लागू करने के प्रकाश में अपने तहत आने वाले तमाम निदेशालयों तथा उपक्रमों द्वारा किए जा रहे कार्यों पर नज़र रखेगा तथा जीएसटी प्रणाली से सम्बन्धित तमाम नीतियों तथा निर्देशों को अंतिम स्वरूप प्रदान करेगा। उल्लेखनीय है कि अभी तक CBEC के तहत आने वाले केन्द्रीय एक्साइज़ (central excise) व सेवा सम्बन्धी कर (service tax) कार्यों को नए सिरे से पुनर्निर्धारित कर लागू करने की व्यवस्था की जा रही है।

 केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं कस्टम बोर्ड(CBIC) नामक नए बोर्ड की कुल 21 जोन (zones), 101 जीएसटी कर जमाकर्ता सेवा निदेशालय होंगे जिनमें 15 उप-निदेशालय, 768 डिवीज़न, 3969 रेंज, 49 ऑडिट निदेशालय तथा 50 अपीलीय निदेशालय होंगे।

……………………………………………………………………

7) सीमा सुरक्षा बल (BSF) के इतिहास में पहली लड़ाकू महिला अधिकारी (first woman combat officer) बनकर किसने 25 मार्च 2017 को एक नया इतिहास रचा? – तनुश्री पारिक (Tanushree Pareek)

विस्तार: 25 वर्षीया तनुश्री पारिक (Tanushree Pareek) ने 25 मार्च 2017 को देश की सीमाओं की सुरक्षा में संलग्न सर्वप्रमुख बल सीमा सुरक्षा बल (Border Security Force – BSF) के इतिहास में एक नया अध्याय रचा जब वे इस दिन इस बल के 51-वर्ष लम्बे इतिहास में वे पहली लड़ाकू महिला अधिकारी (first woman combat officer) के रूप में शामिल कर ली गईं।

 टेकनपुर (Tekanpur) स्थित सीमा सुरक्षा बल के कैम्प में आयोजित पासिंग-आउट-परेड में तनुश्री ने 67 प्रशिक्षु अधिकारियों की परेड का नेतृत्व भी किया। इस परेड का निरीक्षण केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने किया।

 तनुश्री राजस्थान के बीकानेर (Bikaner) की हैं तथा वर्ष 2014 की संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा में उनका चयन हुआ था।

……………………………………………………………………

8) किस चीन समर्थित नेता को 26 मार्च 2017 को हांग कांग (Hong Kong) की अगली प्रमुख के रूप में चुना गया? – कैरी लैम (Carrie Lam)

विस्तार: एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में कैरी लैम (Carrie Lam) को 26 मार्च 2017 को हुए मतदान में हांग कांग (Hong Kong) के अगले प्रमुख (Chief Executive) के रूप में चुना गया। उन्हें मतदान में जहाँ कुल 777 मत मिले वहीं उनके प्रमुख प्रतिद्वन्दी पूर्व वित्त सचिन जॉन सांग (John Tsang) को 365 मत हासिल हुए। पहले हुए सर्वेक्षणों में सांग को लैम के मुकाबले आगे बताया जा रहा था। अब लैम 1 जुलाई 2017 को जब प्रमुख का पद संभालेंगी तब वे हांग कांग की मुख्य कार्यकारी बनने वाली पहली महिला होंगी।

 हालांकि उनके चुनाव को लेकर हांग कांग के तमाम कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया क्योंकि उनका मानना है कि उनका चुनाव पारदर्शी तरीके से नहीं किया गया है तथा इस पद पर उनका चयन यह दर्शाता है कि चीन हांग कांग के मामलों में हस्तक्षेप को और बढ़ा रहा है।

 उल्लेखनीय है कि वर्ष 1997 में हांग कांग की सत्ता चीन को सौंपे जाने के बाद से इस प्रमुख वित्तीय केन्द्र पर चीन अपना प्रभाव लगातार बढ़ा रहा है जबकि सत्ता हासिल करते समय चीन ने भरोसा जताया था कि हांग कांग की स्वायतता (autonomy) को कायम रखा जायेगा तथा यहाँ लोकतंत्र की स्थापना के लिए भविष्य में मतदान भी कराया जायेगा। लेकिन अभी तक ऐसा कुछ नहीं हुआ है तथा लैम के चुनाव जीतने से यह स्पष्ट हो गया है कि चीन का हांग कांग में दखल लगातार बढ़ ही रहा है।

……………………………………………………………………

 

9) 26 मार्च 2017 को सम्पन्न हुई वर्ष की पहली फार्मूला वन (F1) ग्रां प्री ऑस्ट्रेलियन F1 ग्रां प्री (Australian F1 Grand Prix) का खिताब किसने जीता? – सेबेस्टियन वेटेल (Sebastian Vettel)

विस्तार: चार बार के फार्मूला चैम्पियन जर्मनी (Germany) के सेबेस्टियन वेटेल (Sebastian Vettel) ने वर्ष 2017 के फार्मूला वन सत्र की शानदार शुरूआत करते हुए इस सत्र का पहला खिताब ऑस्ट्रेलियन F1 ग्रां प्री जीत लिया। फेरारी (Ferrari) टीम के लिए रेस करने वाले वेटेल ने 26 मार्च 2017 को हुई फाइनल रेस में पहली स्थान से रेस शुरू करने वाले मर्सिडीज़ (Mercedes) टीम के ब्रिटीश ड्राइवर लुइस हैमिल्टन (Lewis Hamilton) को पछाड़ दिया। वहीं तीसरे स्थान पर मर्सिडीज़ टीम के ही वाल्टेरी बोटास (Valtteri Bottas) रहे।

 इस रेस के परिणाम के बाद तमाम फार्मूला वन विश्लेषकों ने दावा किया कि इससे यह लग रहा है कि फार्मूला वन में तेज कारों को शामिल किए जाने के बाद अब मर्सिडीज़ का पिछले कुछ सत्रों से चल रहा सुनहरा काल संभवत: समाप्त हो जायेगा। उल्लेखनीय है कि वेटेल ने इससे पूर्व अपना अंतिम खिताब सितम्बर 2015 में सिंगापुर ग्रां प्री के रूप में जीता था।

 इस रेस में भारतीय फार्मूला वन टीम फोर्स इण्डिया (Force India) के मैक्सिकन ड्राइवर सर्जियो पेरेज़ (Sergio Perez) ने सातवें स्थान पर रहते हुए 6 अंक हासिल किए जबकि इसी टीम के दूसरे ड्राइवर एस्टेबान ओकॉन (Esteban Ocon) ने दसवें स्थान पर रहते हुए 1 अंक हासिल किया। उल्लेखनीय है कि फोर्स इण्डिया के ड्राइवर के रूप में पहली बार रेस कर रहे फ्रांस (France) के ओकॉन का यह फार्मूला वन करियर का पहला ही अंक था।

……………………………………………………………………

 

http://churugurukul.com/current-affairs-23-24-march-2017