Call us now: (+91) 94135 68044 | churugurukul@gmail.com

Current Affairs 27 - 28 April 2017

1) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) ने 26 अप्रैल 2017 को कौन सा अहम मुकाम हासिल किया? – यह सूचकांक पहली बार 30,000 अंकों के ऊपर बंद हुआ

विस्तार: अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेजी के रुख को देखते हुए बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) 26 अप्रैल 2017 को तीसरी बार 30,000 अंक का आंकड़ा पार करने में सफल हुआ। लेकिन यह पहला मौका था जब सेंसेक्स 30,000 अंकों के ऊपर बंद भी हुआ हो। इस स्टॉक एक्सचेंज में प्रात: 10:37 पर 30 शेयरों का सेंसेक्स सूचकांक 0.56% की वृद्धि के साथ 30,111.82 अंक पर पहुँच गया। बंदी के समय सेंसेक्स 30,133.35 अंक पर था।

 उल्लेखनीय है कि सेंसेक्स ने 30,000 अंक के स्तर को पहले भी दो बार छुआ है। पहली बार मार्च 2015 में तथा दूसरी बार 5 अप्रैल 2017 को। लेकिन इतनी ऊँची बंदी (closing) पहली बार हुई है।

 इस तेजी का प्रमुख कारण अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय बाजारों में तेजी रही जिसमें मुख्यत: अमेरिकी कॉर्पोरेट कम्पनियों के शानदार परिणामों और फ्रांसीसी राष्ट्रपति चुनावों के पहले दौर में मध्यमार्गी पार्टियों की जीत की भूमिका रही।

…………………………………………………………………

2) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) के उस अंतरिक्ष-यान (spacecraft) का क्या नाम है जिसने शनि (Saturn) ग्रह के चन्द्रमा “टाइटन” (Titan) की फ्लाई-बाई (flyby) 26 अप्रैल 2017 को पूरी करते हुए इस ग्रह के अभियान की अपनी यात्रा को शुरू कर दिया? – कैसिनी (Cassini)

विस्तार: कैसिनी (Cassini) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) द्वारा शनि ग्रह पर भेजे गए मानवरहित-अंतरिक्ष यान का नाम है। इस यान को एक अन्य यान ह्युगेन्स (Huygens) के साथ पृथ्वी से टाइटन IVB/सेन्टूर रॉकेट से 15 अक्टूबर 1997 को प्रक्षेपित किया गया था। यह दोनों यान शनि की कक्षा में 1 जुलाई 2004 को प्रवेश कर गए थे।

 जहाँ ह्युगेन्स कैसिनी से अलग होकर 14 जनवरी 2005 को शनि के चन्द्रमा टाइटन (Titan) पर उतर गया था वहीं कैसिनी ने शनि के अन्वेषण का अपना अभियान चालू रखा तथा इससे जुड़ी तमाम जानकारियाँ पृथ्वी को भेजी। लेकिन 30 नवम्बर 2016 को कैसिनी की ऊर्जा समाप्त होने के बाद यह अपने अभियान के अंतिम चरण में पहुँच गया।

 कैसिनी ने अप्रैल 2017 के दौरान शनि के चन्द्रमा टाइटन की अंतिम निकटस्थ फ्लाई-बाई (close flyby) को पूरा किया तथा 26 अप्रैल 2017 को शनि और उसके वलयों (rings) की 22 कूदों की श्रृंखला (series of 22 dives) को पूरा किया। इसके बाद यह यान शनि में गिरकर अपनी 20 वर्ष लम्बी यात्रा को समाप्त करने के अंतिम अभियान पर अग्रसर हो गया।

…………………………………………………………………

3) नेहरू परिवार की सबसे वृद्ध जीवित सदस्य 109-वर्षीया फोरी नेहरू (Fori Nehru) का 25 अप्रैल 2017 को निधन हो गया। वे जवाहरलाल नेहरू के चचेरे भाई बी.के. नेहरू (B.K. Nehru) की पत्नी थी। वे मूल रूप से किस देश की नागरिक थीं? – हंगरी (Hungary)

विस्तार: फोरी नेहरू हंगरी (Hungary) में जन्मी एक यहूदी (Jew) थीं तथा वर्ष 1935 में जवाहरलाल नेहरू के चचेरे भाई बी.के. नेहरू से विवाह करने से पहले उनका नाम मेग्डोल्ना फ्रीडमैन (Magdolna Friedman) था। बी.के. नेहरू अमेरिका में भारत के राजदूत रहे थे।

 फोरी को कॉटेज इण्डस्ट्रीज़ इम्पोरियम (Cottage Industries Emporium) की संस्थापक के रूप में भी जाना जाता है। 1947 के बंटवारे के बाद वे शरणार्थियों के बनी आपातकालीन समिति (Emergency Committee for refugees) में शामिल हो गईं थीं तथा उसी समय 1947 में उन्होंने शरणार्थी महिलाओं के रोगजार के लिए एक अभियान चलाया था जिसने बाद में कॉटेज इण्डस्ट्रीज़ इम्पोरियम का स्वरूप अख्तियार किया।

 फोरी का निधन 25 अप्रैल 2017 को हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कसौली (Kasauli) स्थित अपने आवास में हुआ।

…………………………………………………………………

4) अप्रैल 2017 के दौरान चीन (China) के किस प्रांत में मुस्लिम बच्चों के लिए धार्मिक नाम रखने पर पाबंदी लगाने का नियम लागू कर दिया गया? – शिनजियांग (Xinjiang)

विस्तार: चीन के पश्चिमी प्रांत शिनजियांग (Xinjiang) के अधिकारियों ने एक कड़े कानून के तहत मुस्लिम बच्चों के लिए प्रतिबन्धित नामों की एक सूची जारी कर दी जिसमें ऐसे धर्म-आधारित नामों का उल्लेख है जिन्हें रखने पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। उल्लेखनीय है कि इस प्रांत में चीन की 2.3 करोड़ मुस्लिम जनसंख्या का लगभग आधा भाग रहता है। इसके अलावा यहाँ उइघुर (Uighur) अल्पसंख्यक भी भारी संख्या में हैं।

 मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट्स के अनुसार अब शिनजियांग में इस्लाम, कुरान, सद्दाम, मक्का जैसे नाम नहीं रखे जा सकेंगे। इसके अलावा चांद व तारे जैसे मुस्लिम चिह्नों का भी ऐसे कार्यों में उल्लेख नहीं किया जा सकेगा। यदि ऐसे नामों वाले बच्चे पाए जाते हैं तो उनका घरेलू पंजीकरण रद्द हो जायेगा जिससे चीन में सामाजिक सुरक्षा, स्वास्थ्य व शिक्षा जैसी मूलभूत सुविधाएं मिलती हैं।

 उल्लेखनीय है कि शिनजियांग को चीन में सर्वाधिक सशस्त्र आतंकियों वाले क्षेत्र के रूप में जाना जाता है। इसलिए कम्यूनिस्ट पार्टी ने यहाँ के युवाओं के दाढ़ी रखने तथा महिलाओं द्वारा चेहरे पर हिजाब लगाने पर प्रतिबन्ध लगा दिया है।

…………………………………………………………………

5) 26 अप्रैल 2017 को केन्द्र सरकार ने केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (CRPF) के महानिदेशक (Director-General) पद पर किसकी नियुक्ति की? – राजीव राय भटनागर

विस्तार: 1983-बैच के IPS अधिकारी राजीव राय भटनागर (Rajiv Rai Bhatnagar) को केन्द्र सरकार ने 26 अप्रैल 2017 को देश के सबसे बड़े अर्द्ध-सैनिक बल केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force – CRPF) का नया महानिदेशक (Director General) नियुक्त किया। यह नियुक्ति उस समय की गई जब दो दिन पहले ही छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए एक माओवादी हमले में CRPF के 26 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद मीडिया में इस बल का महानिदेशक पद पिछले दो माह से रिक्त होने की खबरें आई थीं।

 भटनागर वर्तमान में मादक-पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) के महानिदेशक हैं। वे कार्यवाहक महानिदेशक सुदीप लखटकिया का स्थान ले रहे हैं।

 वहीं केन्द्र सरकार ने आर.के. पचनंदा (R K Pachnanda) को भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (Indo Tibetan Border Police – ITBP) का नया महानिदेशक (Director General) नियुक्त किया। वे जून 2017 में इस पद से सेवानिवृत्त होने वाले कृष्णा चौधरी का स्थान लेंगे। पचनंदा वर्तमान में राष्ट्रीय आपदा कार्रवाई बल (National Disaster Response Force – NDRF) के महानिदेशक हैं।

…………………………………………………………………

6) अमेरिका (U.S.) के स्टॉक एक्सचेंज नैसडैक (NASDAQ) के कम्पोज़िट इंडेक्स (Composite Index) ने 25 अप्रैल 2017 को कौन सा बड़ा मुकाम हासिल किया? – इस सूचकांक ने इस दिन पहली बार 6,000 अंक के स्तर को पार किया

विस्तार: नैसडैक के कम्पोज़िट इंडेक्स ने 25 अप्रैल 2017 को इन्ट्राडे ट्रेड में 6,036.02 के आंकड़े को छूकर अपने इतिहास में पहली बार 6,000 अंक के आंकड़े को पार करने की उपलब्धि हासिल की।

 वर्ष 1971 में संस्थापित नैस्डैक ने 6,000 अंक के स्तर तक पहुँचने में 46 वर्ष का समय लिया है। उल्लेखनीय है कि नैसडैक का यह प्रमुख सूचकांक प्रौद्यौगिकी कम्पनियों के शेयरों से भरा हुआ है तथा ऐसे शेयर्स में पिछले कुछ समय काफी तेजी दर्ज हुई है।

…………………………………………………………………

 

7) क्षेत्रीय विमानन सेवा से जुड़ी केन्द्र सरकार की महात्वाकांक्षी उड़ान (UDAN) योजना के तहत पहली विमान सेवा का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 अप्रैल 2017 को किया। उड़ान योजना की इस पहली सेवा ने किन दो स्थानों को परस्पर जोड़ा है? – शिमला और नई दिल्ली

विस्तार: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उड़ान योजना के तहत पहली विमान सेवा का उद्घाटन कर हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) और नई दिल्ली (New Delhi) के बीच सीधी विमान सेवा 27 अप्रैल 2017 को शुरू की। इस योजना के शुरू हो जाने से यात्री शिमला से नई दिल्ली की हवाई यात्रा मात्र 2,000 रुपए में कर सकेंगे।

 शिमला-दिल्ली हवाई सेवा का संचालन एयर इण्डिया (Air India) की सहयोगी कम्पनी एलायंस एयर (Alliance Air) द्वारा किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि शिमला से 22 किलोमीटर दूर स्थित जुब्बरहट्टी हवाई अड्डे से नियमित उड़ानें 6 सितम्बर 2012 से बंद पड़ी हैं तथा इससे हिमाचल में आने वाले पर्यटकों और व्यवसायियों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था।

 केन्द्र सरकार की उड़ान योजना में उड़ान (UDAN) का अर्थ है “उड़े देश का आम नागरिक” (“Ude Desh ka Har Nagarik”) तथा इस योजना में देश की क्षेत्रीय विमानन कनेक्टिविटी को सुधार कर देश के नागरिकों को वाजिब दामों में विमान सेवा उपलब्ध कराने का खाका तो खींचा ही गया है साथ ही ऐसे स्थानों को विमान सेवाएं उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है जो प्राय: अधिकांश विमान कम्पनियों को रुचिकर नहीं लगते हैं। 19 से 78 सीटों वाले विमानों को  UDAN के तहत संचालित किया जायेगा तथा इनमें से आधी सीटों को 1 घण्टे तक की फ्लाइट के लिए अधिकतम 2,500 रुपए में उपलब्ध कराया जायेगा। 5 विमान कम्पनियाँ वर्तमान में इस योजना से जुड़ी हैं।

………………………………………………………………

8) 27 अप्रैल 2017 को कर्मचारी भविष्यनिधि संगठन (Employees’ Provident Fund Organisation – EPFO) ने अपने खाताधारकों के लिए क्या बेहद महत्वपूर्ण दिशानिर्देश जारी किया? – उसने मेडिकल सम्बन्धित खर्चों के लिए भविष्यनिधि खाते से धन निकालने के लिए खाताधारकों को अपने सेवायोजक (Employer) की स्वीकृति प्राप्त करने अथवा किसी डॉक्टर का प्रमाणपत्र दिखाने की शर्त को समाप्त कर दिया है

विस्तार: अभी तक कर्मचारी भविष्यनिधि संगठन (EPFO) के खाताधारकों को अपने भविष्यनिधि खाते से स्वास्थ्य खर्चों के लिए धन का आहरण (withdrawal) करने के लिए अपने सेवायोजक (Employer) का यह प्रमाणपत्र लाना पड़ता था कि उक्त कर्मी को कर्मचारी राज्य बीमा योजना (ESIC) का लाभ नहीं मिल रहा है अथवा किसी डॉक्टर का गंभीर बीमारी का प्रमाणपत्र दिखाना होता था।

 अब इस सुविधा के खाताधारक अपने अस्पताल बिलों को चुकाने के लिए सिर्फ एक स्व-घोषणा फॉर्म (self-declared form) भर कर अपने खाते से धन निकाल सकेंगे। यह घोषणा केन्द्र सरकार द्वारा स्व-घोषणा योजना को अधिकाधिक बढ़ावा देने की नीति का हिस्सा है।

 उल्लेखनीय है कि कर्मचारी भविष्यनिधि खाताधारक कम से कम एक माह अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में, किसी बड़े ऑपरेशन के लिए अथवा तपेदिक, कोढ़, पक्षघात, कैंसर व हृदय, आदि जैसी समस्याओं के इलाज के लिए अपने भविष्यनिधि खाते से अपनी 6 माह के वेतन के बराबर धन आहरित कर सकते हैं।

………………………………………………………………

9) हिंदी फिल्मों के बेहद लोकप्रिय अभिनेता विनोद खन्ना (Vinod Khanna) का कैंसर की बीमारी के चलते 27 अप्रैल 2017 को मुम्बई (Mumbai) के एक अस्पताल में निधन हो गया। “अमर अकबर एन्थोनी”, “कुर्बानी” और “इंसाफ” जैसी बेहद सफल फिल्मों से वे बॉलीवुड के चहेते बन गए थे। वे पंजाब की किस लोकसभा सीट से चार बार सांसद थे? – गुरदासपुर (Gurdaspur)

विस्तार: विनोद खन्ना पंजाब की गुरदासपुर (Gurdaspur) सीट से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के लोकसभा सांसद थे। सांसद के रूप में यह उनका चौथा कार्यकाल चल रहा था।

 हिंदी फिल्म उद्योग के सबसे हैण्डसम सितारों में से एक माने जाने वाले विनोद खन्ना ने अपनी फिल्मी करियर की शुरूआत 1968 में “मन का मीत” फिल्म से की थी। शुरू में उन्होंने खलनायक अथवा सहायक अभिनेता की भूमिकाएं निभाई थीं। लेकिन 70 और 80 के दशक में उन्होंने मुख्य अभिनेता के रूप में कुछ बेहद सफल फिल्में दी जैसे “मेरा गाँव मेरा देश”, “रेशमा और शेरा”, “एलान”, “कच्चे धागे” और “अमर अकबर एन्थोनी”।

 लेकिन अपनी लोकप्रियता के चरम काल में उन्होंने अचानक फिल्मों से सन्यास लेकर आध्यात्मिक गुरू ओशो रजनीश (Osho Rajneesh) के पुणे स्थित आश्रम में 5 वर्ष तक आध्यात्मिक जीवन बिताया। उन्होंने फिल्मों में वापसी की और वापस आने के बाद “इंसाफ”, “सत्यमेव जयते” और “दयावान” जैसी बेहद सफल फिल्में दीं।

 वे 70 वर्ष के थे तथा उन्हें अंतिम बार किसी फिल्म में शाहरूख खान अभिनीत “दिलवाले” में वर्ष 2015 में देखा गया था।

………………………………………………………………

10) भारतीय प्रबन्धन संस्थान, अहमदाबाद (IIM, Ahmedabad) के निदेशक (Director) ने 26 अप्रैल 2017 को एकाएक अपना पद छोड़ने की घोषणा कर दी। उनका नाम क्या है? – आशीष नंदा (Prof. Ashish Nanda)

विस्तार: भारतीय प्रबन्धन संस्थान, अहमदाबाद द्वारा 27 अप्रैल 2017 को जारी की गई जानकारी के अनुसार संस्थान के निदेशक प्रो. आशीष नंदा (Prof. Ashish Nanda) ने एक दिन पूर्व व्यक्तिगत कारणों के चलते अपना पद छोड़ने का पत्र संस्थान को भेजा है। उल्लेखनीय है कि नंदा किसी विदेशी बिजनेस स्कूल से आकर किसी भारतीय प्रबन्धन संस्थान (IIM) का नेतृत्व करने वाले पहले प्रोफेसर हैं। वे इससे पूर्व हार्वर्ड लॉ स्कूल में प्रोफेसर थे।

 उनकी नियुक्ति 5 वर्ष के लिए की गई थी तथा अब वे अपनी तय सेवानिवृत्ति के एक वर्ष पूर्व 1 सितम्बर 2017 को यह पद छोड़ देंगे। एक वर्ष पद छोड़ने के उनके निर्णय को काफी आश्चर्यजनक माना जा रहा है और कुछ सूत्रों के अनुसार मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD Ministry) से सम्बन्धों में कड़ुवाहट इस इस्तीफे का कारण हो सकती है।

………………………………………………………………

11) लम्बे समय से भारतीय सशस्त्र सेना में भूमिका निभा रही मारुति सुजुकी जिप्सी (Maruti Suzuki Gypsy) के स्थान पर किस वाहन का चयन रक्षा मंत्रालय ने किया है? – टाटा साफारी स्टॉर्म (Tata Safari Storme)

विस्तार: भारतीय सेना को कुल 3,192 साफारी स्टॉर्म वाहनों (Tata Safari Storme) की आपूर्ति के लिए भारतीय वाहन निर्माता कम्पनी टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने रक्षा मंत्रालय के साथ एक समझौता किया है। इन वाहनों की आपूर्ति वाहनों की एक नई श्रृंखला जनरल सर्विस 800 (GS 800 category) के तहत सेना को की जायेगी। टाटा साफारी स्टॉर्म लम्बे समय से सशस्त्र सेना में भूमिका निभा रही मारुति सुजुकी की जिप्सी (Maruti Suzuki Gypsy) का स्थान लेगी। उल्लेखनीय है कि आने वाले वर्षों में लगभग 35,000 जिप्सी वाहनों को सेवा से बाहर किया जाना है।

 रक्षा मंत्रालय ने वाहनों की आपूर्ति के लिए तीन पैमानों पर खरे उतरने वाले वाहनों का मूल्य मांगा था – न्यूनतम 800 किलो भार वहन करने की क्षमता, ठोस छत (hard roofs) तथा एयर कंडीशनिंग की सुविधा। इस पैमाने पर दो वाहनों के बीच मुकाबला हुआ – टाटा साफारी स्टॉर्म और महिन्द्रा स्कॉर्पियो।

 अब यह सौदा टाटा मोटर्स के खाने में जाने से यह कम्पनी भारतीय सशस्त्र सेना की सबसे बड़ी आपूर्तिकर्ता कम्पनी बन गई है। यह कम्पनी सेना को पहले ही मध्यम व भारी संवर्ग में कई वाहनों की आपूर्ति कर रही है।

………………………………………………………………

 

http://churugurukul.com/current-affairs-25-26-april-2017